मालदीव की संसद में कश्मीर मुद्दा उठाने पर पाक को भारत का करारा जवाब, जुल्म करने वाला न दे नसीहत

मालदीव की संसद में कश्मीर मुद्दा उठाने पर पाक को भारत का करारा जवाब, जुल्म करने वाला न दे नसीहत

मालदीव की संसद में कश्मीर का मसला उठाने पर भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने कश्मीर पर बोलने वाले पाकिस्तान के प्रतिनिधि को रोका और कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है। इस पर किसी और को बोलने का हक नहीं है. इस मुद्दे पर भारत को मालदीव का भी साथ मिला।

मालदीव में हो रहे चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट में पाकिस्तान के प्रतिनिधियों ने कश्मीर का मसला उठा दिया, जिस पर भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने आपत्ति उठाते हुए तीखा पलटवार किया। राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने पाकिस्तान को आईना दिखाते हुए कहा कि जिस मुल्क ने बड़े पैमाने पर अपने ही लोगों का नरसंहार किया हो, उसे मानवाधिकार पर बोलने का नैतिक अधिकार ही नहीं है। उन्होंने पाकिस्तान को सीमापार आतंकवाद बंद करने की भी नसीहत दी।

पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का ड्रामा जारी रहा तो कार्यक्रम का संचालन कर रहे मालदीव की संसद के स्पीकर मोहम्मद नशीद को दो टूक कहना पड़ा कि इस फोरम में किसी देश के आंतरिक मामले को नहीं उठाया जा सकता है। दरअसल, मालदीव की संसद रविवार को सस्टेनेबल डिवेलपमेंट गोल पर चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट की मेजबानी कर रही थी। इसमें लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और राज्यसभा उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे थे, जबकि पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व नैशनल असेंबली के डेप्युटी स्पीकर कासिम सुरी और पाकिस्तानी सेनेटर कुर्रतुल एन मारी कर रहीं थी।


Find Us on Facebook

Trending News