भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिका की राष्ट्रपति! बाइडेन ने सौंपी सारी शक्तियां, जानें बीती रात क्या हुआ ऐसा

भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिका की राष्ट्रपति! बाइडेन ने सौंपी सारी शक्तियां, जानें बीती रात क्या हुआ ऐसा

DESK :  दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका की कमान एक भारतीय मूल की कमला हैरिस के हाथ में सौंप दी गई। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अपनी सारी शक्तियों के साथ कार्रवाहक राष्ट्रपति की जिम्मेदारी भी दे दी। बीते कुछ घंटे में अमेरिका में यह सब हुआ। यह वह समय था जब कमला हैरिस अमेरिका की पहली महिला बनीं जिन्हे राष्ट्रपति के पावर मिले। हालांकि यह पावर लंबा नहीं चला और सिर्फ 85 मिनट के बाद उनसे यह जिम्मेदारी वापस ले ली गई।

दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने नियमित कॉलोनोस्कोपी के लिए एनेस्थीसिया लिया था, इस दौरान वह बेहोश रहे। जो लगभग एक घंटे 25 मिनट का रहा। चेकअप पर जाने से पहले बाइडेन ने अस्थायी रूप से उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को सत्ता हस्तांतरित कर दी। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन पास्की ने बताया कि हैरिस ने वेस्ट विंग में अपने कार्यालय से काम किया, जबकि बिडेन एनेस्थीसिया में थे।

पहली अश्वेत उप राष्ट्रपति बनने का रिकॉर्ड भी हैरिस के नाम

इससे पहले भी कमला हैरिस उपराष्ट्रपति बनकर कई 'फर्स्ट' अपने नाम कर चुकी हैं। वह अमेरिका की पहली अश्वेत और पहली दक्षिण एशियाई मूल की उपराष्ट्रपति बनी थीं। पास्की के मुताबिक, बाइडेन के एनेस्थीसिया के असर में रहने तक हैरिस प्रेसिडेंशियल पावर संभालेंगी, लेकिन वह वेस्ट विंग स्थित अपने ऑफिस से ही काम करेंगी।

पहले भी हुआ है ऐसा

अमेरिका में यह रूटीन प्रोसेस है कि राष्ट्रपति के ऐसे मेडिकल प्रॉसिजर से गुजरने पर, जहां उन्हें एनेस्थीसिया दिया जाता है, उपराष्ट्रपति को प्रेसिडेंशियल पावर सौंप दी जाती हैं। जॉर्ज डब्ल्यू बुश के अमेरिका का राष्ट्रपति पद संभालने के दौरान तत्कालीन उपराष्ट्रपति डिक चेनी को कई बार प्रेसिडेंशियल पावर संभालनी पड़ी थी।


Find Us on Facebook

Trending News