जदयू की डिमांड पर भाजपा के तेवर तल्ख, देर रात अमित शाह से मिले भूपेंद्र-देवेंद्र, NDA में संकट गहराया

जदयू की डिमांड पर भाजपा के तेवर तल्ख, देर रात अमित शाह से मिले भूपेंद्र-देवेंद्र,  NDA में संकट गहराया

PATNA : एनडीए में भले ही ऑल इज वेल  की बात कही जा रही हो लेकिन  हकीकत  सीधे उलट है। एनडीए में लोजपा सीधे-सीधे जदयू को चुनौती दे रहा है, वहीं पर्दे के पीछे से  बीजेपी के भी तेवर तल्ख हैं,लिहाजा अभी तक सीट बंटवारे को लेकर जेडीयू से सहमति नहीं बन पाई है। संख्या व सीट दोनों पर जबरदस्त रूप से पेंच फंसा हुआ है। जानकारी के अनुसार जदयू की मांग को BJP ने खारिज कर दिया है।ऐसे में बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि क्या बिहार  NDA टूट की तरफ बढ़ रहा?


BJP के तेवर तल्ख
 बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस दो दिनों तक पटना में रहे और लगातार बैठक करते रहे लेकिन इन दोनों नेताओं की मुलाकात नीतीश कुमार से नहीं हो सकी। जानकार बता रहे कि अंदर ही अंदर जेडीयू और बीजेपी के बीच तल्खी बहुत बढ़ी हुई है। तल्खी इसलिए क्योंकि जेडीयू पिछली बार यानी 2010 की तरह इस बार भी बीजेपी पर दबाव बनाने की कोशिश में जुटी है । जदयू बीजेपी की कई परंपरागत सीटें मांग रही है जिसे देने को बीजेपी तैयार नहीं है। बीजेपी किसी भी हालत में उन सीटों को छोड़ने को राजी नहीं है। जिसके बाद बात नहीं बन पा रही। ऐसी 15 सीटें हैं जिसपर जदयू अपनी दावेदारी पेश कर रही लेकिन बीजेपी किसी कीमत पर जदयू के दबाव में नही आ रही।

नीतीश कुमार से नहीं हुई मुलाकात
 खबर थी कि भूपेंद्र यादव और देवेंद्र फडणवीस सीट बंटवारे पर मुख्यमंत्री आवास जाएंगे और वहां नीतीश कुमार से सीटों के बंटवारे को लेकर अंतिम बातचीत करेंगे। 2 दिनों तक के दोनों बड़े नेता पटना में मौजूद रहे लेकिन नीतीश कुमार से मुलाकात के लिए नहीं जा सके। 


अमित शाह से मिले भूपेंद्र-देवेंद्र
शुक्रवार की शाम देवेंद्र फडणवीस और भूपेंद्र यादव पार्टी के नेताओं के साथ बैठक खत्म कर दिल्ली रवाना हो गए। दिल्ली जाने के बाद देर रात इन दोनों नेताओं ने गृह मंत्री अमित शाह को रिपोर्ट दी है और बिहार की वर्तमान स्थिति के बारे में उन्हें बता दिया है। बीजेपी  नेतृत्व की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि  वह अपनी परंपरागत सीट को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे। साथ ही  लोजपा को देकर जितनी सीटें बचेंगी उसमें आधा-आधा का बंटवारा होगा। आज  चिराग पासवान  शाम में बड़ा निर्णय ले सकते हैं और बिहार की 143 सीटों पर उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर सकते हैं ऐसे में  आज का दिन काफी अहम होने वाला है ।वैसे बीजेपी चिराग पासवान को छोड़ना नही चाहती है।वहीं जिस तरीके से जदयू और बीजेपी के बीच तल्खी बढ़ी है उससे NDA में बड़ी टूट से इनकार नहीं किया जा सकता।

बीजेपी ने किया स्वीकार-थोड़ी परेशानी है
भूपेंद्र यादव और देवेंद्र फडणवीस की मीटिंग के बाद बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने स्वीकार किया कि थोड़ी परेशानी है लेकिन एक-दो दिनों में सीट बंटवारे पर फैसला हो जाएगा अगले कुछ दिन काफी निर्णायक है।

Find Us on Facebook

Trending News