एमएलसी संजय सिंह के साथ जदयू नेता छोटू सिंह पहुंचे सीतामढ़ी, लोगों को महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि समारोह में शामिल होने के लिए किया आमंत्रित

एमएलसी संजय सिंह के साथ जदयू नेता छोटू सिंह पहुंचे सीतामढ़ी, लोगों को महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि समारोह में शामिल होने के लिए किया आमंत्रित

SITAMARHI : आगामी 23 जनवरी को राष्ट्र रत्न महाराणा प्रताप के पुण्यतिथि का भव्य आयोजन पटना के मिलर हाई स्कूल मैदान में होना है। इसको लेकर महाराणा प्रताप आयोजन समिति के अध्यक्ष और जेडीयू के प्रदेश उपाध्यक्ष संजय सिंह लगातार पूरे बिहार में दौरा कर रहे है। आज संजय सिंह सीतामढ़ी पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत किया गया। हजारों हजार लोग स्वागत में पहुंचे। बैंड -बाजे-गाजे के साथ स्वागत समारोह किया गया। इसके बाद सीतामढ़ी में बैठक की गई,जिसकी अध्यक्षता संजय सिंह ने किया। इस मौके पर जदयू नेता अरविंद सिंह उर्फ छोटू सिंह और धीरज सिंह मुख्य रूप से मौजूद रहे। इस बैठक में सभी समाज के लोगों ने हिस्सा लिया और पुण्यतिथि समारोह में शामिल होने का आश्वासन दिया। मुख्य रूप से इस बैठक में स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। जिसमें मुकेश सिंह मुखिया, राजू सिंह मुखिया, राघवेंद्र सिंह मुखिया, रंजीत कुमार सिंह मुखिया, चंदन सिंह प्रमुख, अजय सिंह मुखिया, मुखिया मुकेश सिंह मुखिया, राजू सिंह मुखिया, नीरज सिंह मुखिया, मनोज सिंह मुखिया, शशि रंजन सिंह मुखिया, शिवेंद्र सिंह मुखिया शामिल हुए और इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना सहयोग देना सुनिश्चित किया। 

सीतामढ़ी के भव्य समारोह में हजारों-हजार लोगों के सामने राष्ट्र रत्न महाराणा प्रताप स्मृति समारोह आयोजन के अध्यक्ष और जेडीयू के प्रदेश उपाध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि मां सीता की जन्मभूमि को नमन करता हूं। हमारा रिश्ता माता सीता से युगो युगो पुराना है। हम लोग भी रघुवंशी हैं और इस क्षेत्र में आकर मुझे जो सम्मान प्यार और समर्थन मिला है उससे मैं अभिभूत हूं। आज आप सभी को निमंत्रण लेने आया हूं और बताने आया हूं कि हमारे पूर्वज राष्ट्र रत्न महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि है और उनके इतिहास को जानने के लिए राष्ट्रीय स्वाभिमान दिवस का आयोजन किया गया है। आप सभी से निवेदन है कि आप हजारों हजार की संख्या में पटना के मिलर हाई स्कूल में 23 जनवरी को पहुंचे। जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे। संजय सिंह ने कहा कि जिस तरह से महान योद्धा महाराणा प्रताप ने अपने स्वाभिमान से समझौता नहीं किया, उसी तरह से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कभी अपने स्वाभिमान से समझौता नहीं किया। नीतीश कुमार ने पद छोड़ना स्वीकार किया लेकिन, अपने स्वाभिमान को बरकरार रखा। नीतीश कुमार का विशेष स्नेह क्षत्रिय समाज से रहा है। हम लोगों की मांग थी कि पटना में महाराणा प्रताप की एक आदमकद प्रतिमा बने, मुख्यमंत्री ने अगले ही कैबिनेट में उसे पास कर दिया और आज पटना के ह्रदय स्थली फ्रेजर रोड के रेडियो स्टेशन गोलंबर पर महाराणा प्रताप की आदमकद प्रतिमा स्थापित होने जा रही है।

सिंह ने कहा की मुख्यमंत्री ने लाख विरोध के बाद सवर्ण आरक्षण को लागू किया। हमारे क्षत्रिय समाज के कई ऐसे लोग हैं जिनको मुख्यमंत्री ने अपने कैबिनेट से लेकर अपने प्रशासनिक व्यवस्था में उच्च पद दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों समाधान यात्रा पर हैं देश के पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं जो इस तरह की यात्रा करते हैं। लोगों के दु:ख दर्द को समझने के लिए लोगों के बीच में जाते हैं। एक पल भी वह मुख्यमंत्री आवास पर नहीं बैठते हैं। बिहार की विकास की चिंता उन्हें हर समय रहती है और यही वजह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इतनी  कड़ाके की ठंड में भी जिला-जिला गांव-गांव घूम कर लोगों की समस्या जानकर उसका समाधान करने के लिए यात्रा कर रहे हैं। 

इस मौके पर जदयू नेता अरविंद सिंह उर्फ छोटू सिंह ने कहा यह आयोजन हम अपने वर्तमान की पीढ़ी और भविष्य की पीढ़ी को बताने के लिए कर रहे हैं कि हमारे जो पूर्वज थे, वह कितने स्वाभिमानी थे। कितने बड़े योद्धा थे। इस कार्यक्रम का लक्ष्य भी यही है कि हम अपनी आने वाली पीढ़ी को अपने इतिहास के बारे में बताएं। हमारा क्षत्रिय समाज का इतिहास बहुत पुराना रहा है और हम इस इतिहास को कभी मिटने देना नहीं चाहते है। आप सब का साथ रहेगा तो हम अपने क्षत्रिय समाज के स्वाभिमान को बुलंदी पर रखेंगे। आप इस कार्यक्रम में जरूर आएं।

Find Us on Facebook

Trending News