बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री का विवादित बयान, जीतन राम मांझी बोले- 'हिंदू बनकर 75 सालों से हैं गुलाम, लंबे समय से जाति के नाम पर हो रहा भेदभाव'

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री का विवादित बयान, जीतन राम मांझी बोले- 'हिंदू बनकर 75 सालों से हैं गुलाम, लंबे समय से जाति के नाम पर हो रहा भेदभाव'

गया. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भाजपा के हिंदू कार्ड के विरोध में बड़ा बयान दिया है। मांझी ने कहा कि हिंदू बन कर 75 साल से आज तक हम गुलाम बने चले आ रहे हैं। अब उनका हिंदू कार्ड नहीं चलेगा। जाति के नाम पर हमारे साथ लंबे समय भेदभाव किया जा रहा है। हम मनुवादियों का विरोध करते हैं और अंबेडकर के साथ हैं। उन्हीं के बताए रास्ते को आगे लेकर चल रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि हमारे यहां पंडित ठीक से पूजा नहीं कराता है, खाना नहीं खाते। जो पूजा कराते हैं, वे शराब पीते हैं और मांस खाते हैं। ऐसे पंडितों का हम विरोध करते हैं। यह बात गांव-गांव प्रचारित हो रहा है। यह बयान पूर्व मुख्यमंत्री मांझी ने अपने घर पर दिया है। इसके अलावा उन्होंने मोकाम व गोपालगंज में हुए उपचुनाव में महागठबंधन की जीत होने की बात कही। 

उन्होंने कहा कि हमें ‘कंफर्म विश्वास’ है कि दोनों जगहों से महागठबंधन की जीत पक्की है। उन्होंने कहा कि मैं चुनाव प्रचार में अपने पैरों की समस्या की वजह से शामिल नहीं हो सका। लेकिन हमारा लड़का संतोष मांझी जो हम का राष्ट्रीय अध्यक्ष है, वह मोकामा गया था और गांव-गांव घूमा था। इस मौके पर उन्होंने लगे हाथ मुख्यमंत्री के बारे में कहा कि नीतीश चोट की वजह से चुनाव प्रचार में नहीं गए। उनकी जान बच गई यही बड़ी बात है। उन्हें पेट में चोट आई है, जिसकी वजह से वह चुनाव प्रचार में शामिल नहीं हो सके।

Find Us on Facebook

Trending News