डीएम साहब ने जिले के एक ही मोहल्ले में बांट दिए आर्म्स के लाइसेंस, हद है इनमें से कुछ 302 के आरोपी

डीएम साहब ने जिले के एक ही मोहल्ले में बांट दिए आर्म्स के लाइसेंस, हद है इनमें से कुछ 302 के आरोपी

खगड़िया। रुपेश हत्या कांड में पप्पू यादव का हमला लगातार जारी है। खगड़िया पहुंचे जाप प्रमुख ने कटिहार में पूर्व डीएम के कार्यकाल में आर्म्स लाइसेंस देने को लेकर बड़ा खुलासा किया है। पप्पू यादव ने बताया कि यहां के डीएम ने जितने लोगों को लाइसेंस दिया, वह सभी एक ही मोहल्ले से संबंधित हैं। 70 प्रतिशत का पता सहायक थाना के अंतर्गत आनेवाले अफसर कॉलोनी बताया गया है। पप्पू यादव ने कहा सरकार इस बात की जांच कराए ऐसा कैसे संभव है।

302 के आरोपियों को दिए गए लाइसेंस

पप्पू यादव ने कहा कि यहां के डीएम ने जिन लोगों को हथियार के लाइसेंस जारी किए, उनमें से कुछ पर धारा 302 का केस दर्ज है। पप्पू यादव ने जिन लोगों को लाइसेंस दिए गए उनमें कुछ नामों को सार्वजनिक भी किया है, उन्होंने बताया है कि अमरजीत राय, पंकज सिंह, राजू राय, धीरेन्द्र यादव, सहरसा के बबलू सिंह, मनीष सिंह, भोला सिंह की पत्नी के नाम शामिल हैं। पप्पू यादव ने कहा कि इनमें से कोई भी दस दिन भी कटिहार में नहीं रहा होगा। लेकिन कटिहार डीएम ने उन पर मेहरबानी करते हुए लाइसेंस जारी कर दिए। यहां तक कि सहायक थाना ने अपने वेरिफिकेशन में उन्हें छह साल से कटिहार का निवासी बता दिया। पप्पू यादव ने कटिहार डीएम के काम पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिन लोगों को पूर्णिया पटना में लाइसेंस देने की जरुरत नहीं समझी गई, उन्हें कटिहार में कैसे इसके लिए मंजूरी मिल गई।

एक साल में 4 बार क्यों बदले चार आर्म्स मजिस्ट्रेट

पप्पू यादव ने कटिहार डीएम के काम पर सवाल उठाते हुए कहा है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि यहां के जिलाधिकारी एक साल में चार बार आर्म्स मजिस्ट्रेट का ट्रांसफर करने के लिए मजबूर होना पड़ा। यह जांच का विषय है कि यह अधिकारी डीएम के लिए किस प्रकार बाधा बन रहे थे। पप्पू यादव ने  आरोप लगाया कि एक-एक लाइसेंस के लिए छह लाख रुपए तक लिए गए हैं।

Find Us on Facebook

Trending News