JDU सांसद ललन सिंह के करीबी पूर्व मुखिया के हत्यारे को पकड़ने में पुलिस फेल, 25 दिन बाद भी अंधेरे में तीर चला रही जमुई पुलिस

JDU सांसद ललन सिंह के करीबी पूर्व मुखिया के हत्यारे को पकड़ने में पुलिस फेल, 25 दिन बाद भी अंधेरे में तीर चला रही जमुई पुलिस

JAMUI : मुंगेर से जदयू सांसद ललन सिंह के करीबी पूर्व मुखिया की हत्या के 25 दिन बीत गए लेकिन पुलिस ने आरोपियों को अब तक गिरफ्तार नहीं किया। जमुई पुलिस अंधेरे में तीर चला रही है. हत्या की घटना के बाद सीएम नीतीश के बेहद करीबी जेडीयू सांसद ललन सिंह और विधान पार्षद संजय प्रसाद जमुई के नोनी गाँव पहुंचे थे. उन्होंने कोल्हान पंचायत के नोनी गांव निवासी मृतक पूर्व मुखिया निरंजन सिंह के परिजनों से मुलाकात की थी. तब सांसद ललन सिंह ने कहा था कि अपराधियों को किसी कीमत पर छोड़ा नहीं जायेगा. लेकिन पुलिस के हाथ अब तक खाली है। बताया जाता है कि स्थानीय थाना की मिलीभगत से आरोपियों को लाभ मिल रहा है। 

4 जनवरी को ललन सिंह पहुंचे थे गांव

4 जनवरी को पीड़ित परिवार को सांत्वना देने गांव पहुंचे सांसद ललन सिंह ने कहा था की पूर्व मुखिया निरंजन सिंह एक बेहद मिलनसार और सामाजिक व्यक्ति थे. व्यवहारकुशल होने की वजह से ही इलाके में काफी लोकप्रिय थे. हर समय किसी भी व्यक्ति को विपरीत परिस्थितियों में सहायता देने के लिए तत्पर रहते थे. निरंजन जैसे उर्जावान व सामाजिक व्यक्ति की हत्या अत्यंत दुखद है. पुलिस जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार करेगी. इस मौके पर विधान पार्षद संजय प्रसाद भी मौजूद थे. बता दें की उसी दौरान जमुई एसपी भी वहां पहुंच कर हत्या के विभिन्न पहलुओं की जाँच में जुटे थे.  

29 दिसंबर को हुई थी हत्या

गौरतलब है कि जमुई जिले के चंद्रदीप थाना क्षेत्र के कोल्हाना पँचायत के पूर्व मुखिया सह नोनी गांव निवासी निरंजन सिंह पर 29 दिसंबर तड़के तब गोलियों की बारिश कर दी गयी. जब वह मार्निंग वॉक कर वापस अपने घर लौट रहे थे. इसी दौरान अपराधियों ने उन्हें रास्ते में घेर लिया और उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी. गांव के लोगों की मानें तो अपराधियों ने इस दौरान 15 राउंड के करीब गोलियां चलायी. जिसमें पूर्व मुखिया निरंजन सिंह बुरी तरह जख्मी हो गए. आनन फानन में उन्हें इलाज के लिए शेखपुरा ने जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया.  

Find Us on Facebook

Trending News