घमासान के बीच कुशवाहा का शानदार सियासी प्लान..RJD से डील की बात में छुपा है बड़ा राज...जानिए

घमासान के बीच कुशवाहा का शानदार सियासी प्लान..RJD से डील की बात में छुपा है बड़ा राज...जानिए

PATNA : बीते मंगलवार को जिस तरह से जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने महागठबंधन सरकार को लेकर सवाल उठाए, राजद और जदयू के बीच हुए डील को लेकर बात की, उसके बाद यह तय माना जा रहा है कि कुशवाहा जल्द ही जदयू को अलविदा कह सकते हैं। जिस तरह से उन्होंने नीतीश कुमार और जदयू को लेकर अपनी भावनाएं जाहिर की, उसके बाद राजनीति के जानकारों का कहना है कि यह सब अचानक नहीं है। कुशवाहा ने अपने शिफ्टिंग का ऐसा प्लान तैयार किया है, जिसमें वह पार्टी में अपनी छवि को भी बचाने में कामयाब हो जाएंगे।

पार्टी के लिए होंगे शहीद

बीते मंगलवार को उपेंद्र कुशवाहा ने प्रेमवार्ता में कई बार जदयू के कमजोर होने और नीतीश कुमार के खिलाफ साजिश रचने की बात कही। उपेंद्र कुशवाहा यह दिखाना चाहते थे कि वह अब भी नीतीश कुमार को अपना नेता मानते हैं और उनके सबसे बड़े शुभचिंतक हैं। ऐसा करके वह पार्टी और नीतीश के साथ अपने रिश्ते को बेहतर रखना चाहते हैं। जब पार्टी से वह बाहर जाएं तो अपनी मंशा भी पूरी कर लें और शहीद भी कहलाएं। जनता के बीच भी ये संदेश देना चाहते हैं कि पार्टी के हितों की बात करते हुए उन्होंने खुद को फना किया।

अब अगर उपेंद्र कुशवाहा जदयू को अलविदा कहते हैं तो बीजेपी में उनके जाने के रास्ते खुल जाएंगे। इस बात की चर्चा उनकी दिल्ली एम्स में बीजेपी नेताओं के साथ हुई एक मुलाकात के बाद ही शुरू हो गई थी। इस बीच पूर्व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद बीजेपी में उनके स्वागत की बात कह चुके हैं। इसी के बाद कुशवाहा का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सीधा सवाल बिहार की राजनीति में नई अटकलों को मजबूती दे रहा है।

बीजेपी को होगा फायदा

दरअसल, कुशवाहा जितने दिन भी जेडीयू में रह कर नीतीश कुमार और जेडीयू की राजनीतिक कमजोरी गिनाएंगे उसका सीधा लाभ बीजेपी को मिलेगा। जनता में पहले से बन रही जेडीयू की आरजेडी में विलय की थ्योरी और मजबूत होगी। और उनके कोर वोटर 'लव-कुश' बीजेपी की ओर मूव करने का मन बनाएंगे। इस पूरे सियासी घटनाक्रम का सीधा फायदा अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को देखने को मिलेगा। दूसरा फायदा 2025 बिहार विधानसभा चुनाव में नजर आएगा। उपेंद्र कुशवाहा अब जितने दिन जेडीयू में हैं वो सीधे तौर पर बीजेपी को फायदा पहुंचाने वाले हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News