मैच टाई होने पर बिलख पड़ा नन्हा भारतीय प्रशंसक, तब स्टार क्रिकेटर ने की बात और कर दिया वादा

मैच टाई होने पर बिलख पड़ा नन्हा भारतीय प्रशंसक, तब स्टार क्रिकेटर ने की बात और कर दिया वादा

एशिया कप में मंगलवार को भारत-अफगानिस्तान के दरम्यान रोमांचक मुक़ाबला देखने को मिला। इस मुक़ाबले में अफगानिस्तान के ख़िलाफ़ टीम इंडिया जीत हासिल करने से चूक गयी और मैच टाई हो गया। इस रोमांचक मुक़ाबले की समाप्ति के बाद भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों के दिल टूट गये। कुछ ने अपनी भावनाओं पर काबू रखा तो कई की आंखों से आंसू छलक पड़े। कुछ ऐसा ही नज़ारा दुबई में भी देखने को मिला, जहां भारतीय टीम का नन्हा प्रशंसक स्टेडियम में बैठ इस रोमांचक मुक़ाबले का गवाह बना। टीम इंडिया द्वारा जीत हासिल नहीं कर पाने पर उसकी आंखों से झरझर आंसू बहने लगे। हालांकि उसके साथ खड़े उसके पिता अमरप्रीत सिंह उसे लगातार सांत्वना देते रहे लेकिन नन्हें प्रशंसक के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। 

भज्जी ने नन्हें प्रशंसक का बढ़ाया हौसला

इस नन्हें प्रशंसक के दृश्य को देख हर कोई मायूस हो गया। दिग्गज ऑफ स्पिनर और कमेंटेटर हरभजन सिंह ने भी इस प्रशंसक की भावनाओं का सम्मान करते हुए ट्वीट किया और संदेश देते हुए कहा कि कोई बात नहीं पुत्तर, रोना नहीं है। फ़ाइनल तो आप ही जीतोगे। 

भुवनेश्वर कुमार ने नन्हें प्रशंसक से किया वादा

दिग्गज क्रिकेटर हरभजन सिंह के इस ट्वीट के बाद नन्हें प्रशंसक के पिता अमरप्रीत सिंह ने भी भज्जी को ट्वीट करते हुए बेटे की फोटो पोस्ट की और कहा कि पाजी, अभी मेरा बेटा खुश है और शुक्रवार को होने वाले फ़ाइनल मैच का बेसब्री से इंतज़ार कर रहा है। अमरप्रीत सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है कि वे तेज़ गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने फोन कर उनके बेटे से बात की और फ़ाइनल में जीत दर्ज करने का वादा किया। नन्हें प्रशंसक के पिता अमरप्रीत सिंह की माने तो अफगानिस्तान के होनहार लेग स्पिनर राशिद ख़ान और मो. शहजाद ने भी उनके बेटे की हौसला अफजाई की है।

देश के लिए खेलने की है चाहत

विदित है कि टीम इंडिया का ये नन्हा प्रशंसक क्रिकेट का बहुत बड़ा दीवाना है। फिलहाल वो दुबई में महेन्द्र सिंह धोनी की क्रिकेट एकेडमी में बल्लेबाजी के गुर सिख रहा है। इस नन्हें प्रशंसक की दिली तमन्ना है कि एक दिन वो भी भारत के लिए खेले और वर्ल्ड क्रिकेट में अपने देश का नाम रोशन करे।    

साभार : प्रसून पाण्डेय, खेल पत्रकार

Find Us on Facebook