टोक्यो पैरालंपिक 2020 में हो रही मेडल की बारिश, प्रधानमंत्री ने दिया सभी मेडलिस्ट को बधाई

टोक्यो पैरालंपिक 2020 में हो रही मेडल की बारिश, प्रधानमंत्री ने दिया सभी मेडलिस्ट को बधाई

NEW DELHI : टोक्यो पैरालंपिक 2020 में आज भारत ने अपना शानदार प्रदर्शन दिया है .भारत के योगेश कथुनिया ने मेंस डिस्कस थ्रो में मेडल जीत लिया है. मेंस डिस्कस थ्रो के F56 इवेंट में योगेश कथुनिया को सिल्वर मेडल मिला है. योगेश कथुनिया का बेस्ट थ्रो 44.38 मीटर का रहा. 24 साल के इस खिलाड़ी को ब्राज़ील के बतिस्ता डोस सांतोस को कड़ी टक्कर दी। लेकिन आखिरकार ब्राज़ीली खिलाड़ी ने नया रिकॉर्ड बनाते हुए 45.59 मीटर का थ्रो फेंका और गोल्ड पर कब्जा कर लिया। हालांकि, फाइनल इवेंट में योगेश कथुनिया शुरुआत में लीड कर रहे थे. लेकिन बतिस्ता डोस सांतोस से पिछड़ गए और दूसरे पायदान पर रहते हुए सिल्वर मेडल अपने नाम किया और क्यूबा के डायज एल्डाना को ब्रॉन्ज मेडल मिला.

मां के साथ साथ SAI को कहा शुक्रिया

मैडल जितने के बाद योगेश ने भावुक होते हुए कहा कि ‘सिल्वर मेडल जीतकर मैं बेहद खुश हूं. ये मेरे पहले पैरालंपिक गेम्स थे. और मेडल जीतकर काफी खुश हूं. फाइनल इवेंट में मेरे कुछ अटेम्प्ट फाउल रहे. लेकिन मैंने वापसी कर मेडल जीता. मैं SAI, PCI और अपनी मां का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं. जिन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया.’ टोक्‍यो ओलंपिक में सिल्‍वर मेडल जीतने वाले  भारतीय एथलीट योगेश कथूनिया ने बताया कि इस टोक्यो पैरालंपिक में जीते गए रजत पदक का महत्व स्वर्ण पदक जैसा है, क्योंकि उन्होंने कोच के बिना अभ्यास किया था और एक साल से भी अधिक समय से कोचिंग के बिना पदक जीतने से वह बेहद खुश हैं।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योगेश की इस सफलता पर उन्हें बधाई देते हुए लिखा, "योगेश कठुनिया का शानदार प्रदर्शन. हमें ख़ुशी है कि आपने देश के लिए सिल्वर मेडल जीता है."

वही आपको बता दें कि नेशनल स्पोर्ट्स डे के दिन भारत ने टोक्यो पैरालंपिक्स से तीन मेडल जीते थे. और अगले ही दिन, यानी 30 अगस्त को भारत की ‘गोल्डन’ मॉर्निंग हुई. 19 साल की अवनी लेखरा ने भारत को 2020 टोक्यो पैरालंपिक में पहला गोल्ड दिलाया. जबकि देवेंद्र झाझरिया ने सिल्वर मेडल और सुरेंद्र सिंह गुर्जर ने ब्रॉन्ज मेडल जीता.



Find Us on Facebook

Trending News