मंत्री VS अफसरशाही विवाद : जीवेश मिश्रा की गाड़ी रोकने पर DGP का बयान, कहा- वीडियो फुटेज के आधार पर जांच की जा रही है

मंत्री VS अफसरशाही विवाद : जीवेश मिश्रा की गाड़ी रोकने पर DGP का बयान, कहा- वीडियो फुटेज के आधार पर जांच की जा रही है

पटना. बिहार में शीतकालीन सत्र चल रहा है. इसमें कोई न कोई विवाद देखा जा रहा है. नया विवाद बिहार सरकार के मंत्री जीवेश मिश्रा और पटना पुलिस-प्रशासन के बीच का है. इस मामले में डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने मीडिया से बात की. उन्होंने कहा कि वीडियो फुटेज देखा जा रहा है और जांच शुरू कर दी गई है. उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है. बता दें कि मंत्री जीवेश मिश्रा ने कहा कि पुलिस-प्रशासन ने मेरी गाड़ी को रोकर मंत्री पद की बेइज्जती की है.

वहीं जीवेश मिश्रा मामले में अपर मुख्य सचिव गृह चैतन्य  प्रसाद ने कहा कि ऐसा हो नहीं सकता कि कोई भी पुलिस-प्रशासन के पदाधिकारी माननीय मंत्री जी इज्जत ना करें, लेकिन कुछ दिक्कतें हुई हैं. इस पूरे मामले को देखा जा रहा है. जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

बिहार विधानसभा में आज अजीब स्थिति उत्पन्न हो गई. सरकार के श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार ने प्रश्नकाल के दौरान सदन में उठकर कहा कि आज यह स्पष्ट होना चाहिए कि एसपी-डीएम बड़ा या सरकार. डीएम-एसपी की वजह से हमारी गाड़ी को रोक दी गई. आज सदन में सरकार क्लीयर करे. संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि मंत्री जी ने कहा कि विधानसभा परिसर में यह वाकया हुआ है. ऐसे में पूरा अधिकार विधानसभा अध्यक्ष का है. आसन जो निर्णय ले सरकार इस पर तैयार है.

मंत्री जीवेश कुमार ने कहा कि आज जब हम सदन आ रहे थे. इसी दौरान उनकी गाड़ी को रोक दी गई. कहा गया कि एसपी-डीएम जा रहे हैं. इसलिए आप नहीं जा सकते. यह तो अजीब स्थिति है. वैसे डीएम-एसपी को तुरंत सस्पेंड किया जाना चाहिए. मंत्री के इस बात पर सदन में भारी हंगामा हुआ. विपक्ष पूरी तरह से मंत्री जीवेश मिश्रा के साथ खड़ा हो गया. अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि विधायकों की प्रतिष्ठा सबसे बड़ी है. सरकार की तरफ से ससंदीय कार्य मंत्री सदन में जवाब देंगे.


Find Us on Facebook

Trending News