मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स में पूरी की पदकों की हैट्रिक, भारत को दिलाया पहला गोल्ड, वेटलिफ्टरों के नाम रहा शनिवार

मीराबाई चानू  ने कॉमनवेल्थ गेम्स में पूरी की पदकों की हैट्रिक, भारत को दिलाया पहला गोल्ड, वेटलिफ्टरों के नाम रहा शनिवार

DESK : कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के दूसरे दिन भारत को स्वर्णिम कामयाबी हासिल हुई है। मीराबाई चनू ने वेटलिफ्टिंग इवेंट के 49 किलो भारवर्ग में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीत लिया है. इससे पहले 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक हासिल किया था। वहीं 2014 में उन्होंने सिल्वर मेडल हासिल किया था। इस तरह कॉमनवेल्थ खेलों में अपने पदकों की हैट्रिक पूरी कर ली है। इसके अलावा मीराबाई ओलंपिक में भी मेडल जीत चुकी हैं।

मीराबाई चनू ने वूमेन्स वेटलिफ्टिंग के 49 किलो भारवर्ग में भारत के लिए यह मेडल जीता. टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चनू ने स्नैच में 88 किलो का वजन उठाया. वहीं, क्लीन एंड जर्क में मीराबाई ने 113 किलो का बेस्ट प्रयास किया. यानी कि मीराबाई ने कुल 201 किलो का वजन उठाया. यह कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड रहा। चानू के बाद स्नैच में मैरी हनीत्रा रोइल्या दूसरे नंबर पर रहीं. मैरी 76 किलो का भार सफलतापूर्वक उठाने में कामयाब रहीं।

PM ने दी बधाई

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, 'असाधारण. मीराबाई चनू ने भारत को एक बार फिर गौरवान्वित किया! हर भारतीय इस बात से खुश है कि उन्होंने बर्मिंघम खेलों में एक स्वर्ण पदक जीता और एक नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड बनाया. उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है।

वेटलिफ्टिंग में अब तक चार पदक

शनिवार को वेटलिफ्टिंग में भारत को चार पदक हासिल हुए, खास बात यह है कि कॉमनवेल्थ 2022 मे भारत को चारों पदक अब तक वेटलिफ्टरों ने दिलाए हैं। जहां टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चनू ने 49 किलो भारवर्ग में सोना जीता था. वहीं संकेत महादेव और गुरुराजा पुजारी क्रमश: सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीतने में कामयाब रहे थे। 

बिंदियारानी देवी ने वूमेन्स वेटलिफ्टिंग के 55 किलो भारवर्ग में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीत लिया. बिंदियारानी ने स्नैच में 86 का स्कोर किया, वहीं क्लीन एंड जर्क में 116 का स्कोर बनाया. यानी कि उन्होंने कुल 202 किलो का स्कोर करते हुए रजत पदक अपने नाम किया है।


Find Us on Facebook

Trending News