क्लाइमेक्स पर पहुंचा फैमिली ड्रामा, मीसा ही लड़ेंगीं पाटलिपुत्र

क्लाइमेक्स पर पहुंचा फैमिली ड्रामा, मीसा ही लड़ेंगीं पाटलिपुत्र

PATNA : पाटलिपुत्र लोकसभा सीट को लेकर लालू राबड़ी परिवार में शुरू हुआ फैमिली ड्रामा क्लाइमेक्स पर जा पहुंचा है। आज दिन भर चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद आखिरकार यह तय हो गया है कि लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ही पाटलिपुत्र से आरजेडी की उम्मीदवार होगीं। पाटलिपुत्र सीट से उम्मीदवारी का दावा ठोक रहे आरजेडी विधायक भाई बीरेंद्र को पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने सीधे मना कर दिया है।

मीसा भारती के टिकट को लेकर लालू परिवार में लंबे वक्त से खींचतान चल रही थी। तेजस्वी यादव पाटलिपुत्र सीट से भाई बीरेंद्र की उम्मीदवारी के पक्ष में थे। सूत्रों के मुताबिक तेजस्वी यह चाहते थे कि उनके परिवार का कोई सदस्य रामकृपाल यादव के खिलाफ चुनाव मैदान में नहीं उतरे। तेजस्वी अपने परिवारिक सदस्य की बजाय किसी के स्थानीय उम्मीदवार को टिकट देना चाहते थे। तेजस्वी के इसी रुख का परिवार में विरोध शुरु हो गया। मीसा भारती के साथ-साथ बड़े भाई तेज प्रताप यादव ने भी तेजस्वी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। तेज प्रताप ने तेजस्वी पर दबाव बढ़ाने के लिए 2 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा करने की बात कही। शाम होते-होते तेज प्रताप ने छात्र आरजेडी के संरक्षक पद से इस्तीफा तक दे डाला।

परिवार में चल रहे इस टकराव की जानकारी आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद को भी लगी। लिहाजा रांची रिम्स में लालू से मुलाकात कर अपनी उम्मीदवारी पेश करने पहुंचे भाई बिरेंद्र को उन्होंने सीधे टिकट देने से मना कर दिया। देर शाम फैमिली ड्रामे का क्लाइमेक्स सीन भी सामने आ गया। पार्टी के अंदरखाने इस बात की चर्चा है कि लालू प्रसाद ने बिटिया मीसा भारती को पाटलिपुत्र से टिकट देने का फरमान जारी कर दिया है। 2014 में रामकृपाल यादव के खिलाफ पाटलिपुत्र सीट से चुनाव लड़ चुकी मीसा भारती का टिकट काटना किसी के लिए भी आसान नहीं था। लालू-राबड़ी की सबसे बड़ी संतान मीसा अपने कड़े तेवर के लिए जानी जाती हैं। लिहाजा अब यह तय हो गया है की पाटलिपुत्र के चुनावी मैदान में रामकृपाल यादव को मीसा ही टक्कर देंगी।

Find Us on Facebook

Trending News