मिथिला विश्वविद्यालय के कई विभाग अभी भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित, न शौचालय, न पेयजल की व्यवस्था

मिथिला विश्वविद्यालय के कई विभाग अभी भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित, न शौचालय, न पेयजल की व्यवस्था

दरभंगा। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कई विभागों में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। जिसको लेकर यहां के छात्र अब आंदोलन करने की तैयारी में हैं। यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सूरज चौधरी ने इस संबंध में  इतिहास विभाग में स्वच्छ पेयजल एवं शौचालय की व्यवस्था को लेकर विभागाध्यक्ष को मांगपत्र सौंपा है।

सूरज कुमार ने कहा कि सीनेट में कैंपस के विकास के मद में करोड़ों का बजट पास किया जाता है लेकिन दुर्भाग्य है कि यहां छात्रों को पीने का पानी मिलना भी दुर्लभ है। नारगौना परिसर में कहीं भी पीने के पानी का व्यवस्था नहीं है एवं बिहार सरकार के योजना से जो शौचालय नारगौना परिसर में बना उसमें भी ताला लटका हुआ है। पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने कहा कि अगर पानी एवं शौचालय की समस्या का जल्द निदान नहीं किया गया तो छात्रों को मजबूरन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

कोष की कमी को बताया कारण

मामले मे जब इतिहास के विभागाध्यक्ष से बात की गई तो उन्होंने कहा कि विभाग के पास ऐसा कोई कोष नहीं है जिससे विभाग में पेयजल एवं शौचालय की व्यवस्था हो सके। उन्होंने कहा कि कई बार विश्वविद्यालय को लिखकर देने के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन इस समस्या पर ध्यान नहीं दे रही है।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही विश्वविद्यालय के कुलपति ने यहां के लाइब्रेरी का दौरा किया था, जिसमें वह यहां की व्यवस्था को लेकर नाराज नजर आए थे।


Find Us on Facebook

Trending News