पटना में दो जगहों पर जुलाई तक खुलेंगे मदर सीएनजी स्टेशन, रोज 10 हजार से अधिक वाहनों में डाली जाएगी गैस

पटना में दो जगहों पर जुलाई तक खुलेंगे मदर सीएनजी स्टेशन, रोज 10 हजार से अधिक वाहनों में डाली जाएगी गैस

पटना. बिहार में गाड़िया पेट्रोल-डीजल से सीएनजी में शिफ्ट हो रही है। बहुत सारी गाड़िया सीएनजी से चल भी रही है। इसको लेकर सीएनजी गैस स्टेशन बनाने की कवायद भी तेज कर दी गयी है। पटना के गर्दनीबाग और बाइपास में जुलाई तक एक-एक मदर सीएनजी स्टेशन खुलेंगे। इन दो स्टेशनों पर पर रोज करीब 10 हजार वाहनों में सीएनजी गैस डाली जा सकेगी।

मिली जानकारी के अनुसार गाड़ियों में सीएनजी भरवाने के लिए मौजूदा समय में भारी मारामारी हो रही है। इससे जल्द निजात मिलेगी। गेल द्वारा शहर में दो मदर स्टेशन का निर्माण कराया जाएगा। हर स्टेशन पर प्रतिदिन 5000 से अधिक वाहनों में गैस डालने की क्षमता होगी। दोनों स्टेशन पर रोज करीब 10 हजार वाहनों में गैस डाली जा सकेगी। 200 प्रेशर क्षमता से सिंलेडर में गैस डाली जाएगी। अभी तक प्रेशर क्षमता 150-180 तक है।

जुलाई तक गर्दनीबाग और बाइपास में एक-एक मदर स्टेशन का निर्माण हो जाएगा। इसके लिए गेल ने बीएसएनएल की जमीन चिह्नित की है। गेल और बीएसएनएल के बीच करार हो चुका है। फरवरी तक मदर स्टेशन निर्माण के लिए डीपीआर तैयार हो जाएगी। मार्च तक निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। गर्दनीबाग और बाइपास में एक-एक मदर स्टेशन होने से शहर के पूर्वी इलाके के सीएनजी स्टेशन पर गैस आपूर्ति आसानी से होगी। अभी बेली रोड छोड़कर अन्य जगहों के स्टेशन पर टैंकर से गैस पहुंचाई जा रही है। नौबतपुर से गैस लाई जाती है।

Find Us on Facebook

Trending News