बकरीद पर बिकने के लिए आए एक लाख के मुन्ना और टून्ना बने आकर्षण, खरीदारों में उत्साह का माहौल, लेकिन महामारी को लेकर सावधानी नहीं

 बकरीद पर बिकने के लिए आए एक लाख के मुन्ना और टून्ना बने आकर्षण, खरीदारों में उत्साह का माहौल, लेकिन महामारी को लेकर सावधानी नहीं

KATIHAR : कोरोना काल के बीच कुर्बानी का पर्व बकरीद को लेकर खासकर मवेशी बाजार में उत्साह का माहौल है। हालांकि लोग के माने तो इस बार बाहर से व्यापारी नहीं आने के कारण बाजार की रौनक और भीड़ कुछ फीकी जरूर है। 

एक लाख का मुन्ना और टून्ना बना आकर्षण

 आकर्षक जानवरों के बीच एक लाख जुड़े के बकरा मुन्ना और टुन्ना लोगो के आकर्षण का केंद्र बना हुआ रहा, मवेशी व्यपारी कहते हैं कि इस बार इस बाजार में स्थानीय देशी नस्ल के ही बकरे का ज्यादा डिमांड रहा है, उसके पीछे बजह ये है कि बाहर से जो मवेशी व्यापारी आते थे वह इस बार नहीं आए है, वही कुर्बानी का पर्व बकरीद मनाने वाले लोग कहते हैं कि वे लोग अच्छे नस्ल के बकरा कुर्बानी के लिए खरीदने इस हाट तक पहुंचे हैं, हालांकि इस बार बाजार में बकरा की नस्ल की वैरायटी कुछ कम जरूरी  है मगर दाम पहले से ज्यादा है कुछ ऐसे जिम्मेदार लोग भी देखें जो मास्क से जुड़े सवाल उठाते हुए हर हाल में इसे मानने का पक्षधर दिखे।

कोरोना प्रोटोकॉल का नहीं हो रहा पालन

कटिहार के प्रसिद्ध मनसाही मवेशी हॉट में खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ जुट रही है, लेकिन इसके बाद भी कोरोना प्रोटोकॉल के तहत भीड़ नियंत्रण को लेकर स्थानीय प्रशासन द्वारा कोई व्यवस्था नहीं की गई है।  बड़ी बात यह है मास्क है जरूरी वाले कहावत पर भी यहां लोग अमल करने के लिए तैयार नहीं है

Find Us on Facebook

Trending News