नीतीश सरकार की पुलिस से विश्वास खत्म! बिहार BJP के 10 नेताओं को CRPF की 'वाई' श्रेणी सुरक्षा

नीतीश सरकार की पुलिस से विश्वास खत्म! बिहार BJP के 10 नेताओं को CRPF की 'वाई' श्रेणी सुरक्षा

PATNA: अग्निपथ योजना को लेकर बिहार में पिछले तीन दिनों से उपद्रव जारी है। बीजेपी नेताओं को निशाने पर लिया जा रहा है। बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल के आवास पर हमला और आगजनी की गई है। डिप्टी सीएम रेणु देवी समेत चार विधायकों के आवास को निशाना बनाया गया है। दल के विधायक विनय बिहारी पर जानलेवा हमला किया गया। बिहार पुलिस की मौजूदगी में 4 जिलों में भाजपा के दफ्तर को उपद्रवियों ने फूंक दिया। कई रेलवे स्टेशन व ट्रेनों को आगे के हवाले कर दिया। गुरूवार और शुक्रवार को उपद्रव होते रहा और पुलिस मुकदर्शक बनी रही। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की सुरक्षा भगवान भरोसे हो गई। बिहार की पुलिस से भाजपा नेताओं को विश्वास खत्म होने लगा। अपने नेताओं को असुरक्षित देख गृह मंत्रालय सक्रिय हुई है। भाजपा के आक्रामक नेताओं को केंद्र सरकार ने सीआरपीएफ सुरक्षा मुहैया कराई है। 

बीजेपी के 10 नेताओं को सीआरपीएफ सुरक्षा 

जानकारी के अनुसार बीजेपी के कई नेताओं व विधायकों को सीआरसीपीएफ की सुरक्षा दी गई है। सभी नेताओं के यहां आज केंद्रीय बल के 12 पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल की भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। भाजपा के आक्रामक विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल की सुरक्षा में सीआरसीपीएफ के 12 जवान तैनात किये गये हैं। वहीं दरभंगा से विधायक संजय सरावगी, दीघा से विधायक संजीव चौरसिया को सीआरपीएफ की सुरक्षा लगाई गई है। सभी को वाई ग्रेड की सुरक्षा दी गई है। जानकारी के अनुसार डिप्टी सीएम रेणु देवी की सुरक्षा में भी सीआरपीएफ की तैनाती की गई है। 

इस संबंध में बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर ने बताया कि हमें सीआरपीएफ की सुरक्षा दी गई है। कुल 12 जवान सुरक्षा में तैनात किये गये हैं। वहीं दरभंगा से विधायक संजय सरावगी ने भी कहा कि सीआरपीएफ के 12 जवानों की सुरक्षा दी गई है। यह सीआरपीएफ की वाई श्रेणी का सुरक्षा घेरा है। 

Find Us on Facebook

Trending News