नीतीश सरकार का बड़ा फैसलाः ब्लैक फंगस महामारी घोषित, पटना के 4 अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था

नीतीश सरकार का बड़ा फैसलाः ब्लैक फंगस महामारी घोषित, पटना के 4 अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था

PATNA: कोरोना के बाद ब्लैक फंगस बड़ी परेशानी का कारण बनता जा रहा है. बिहार में लगातार ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. एक महीने में सूबे में लगभग100 से ज्यादा मरीजब्लैक फंगस के मिले हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या से चिंतित राज्य सरकार ने इस रोग को महामारी की श्रेणी में शामिल किया है। 

नीतीश सरकार का बड़ा निर्णय

बिहार में बढ़ते हुए ब्लैक फंगस के मरीजों को देखते हुए सरकार ने इसे आपदा की श्रेणी की शामिल कर लिया है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि ब्लैक फंगस के मरीजों के बेहतर इलाज के लिए राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है. सरकार ने इसे एपिडेमिक डिजीज एक्ट के तहत महामारी के रूप में घोषित किया है.उ्होंने बताया कि सभी अस्पतालों को ब्लैक फंगस के मरीजी के इलाज के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार के गाइड लाइन को फॉलो करना होगा।

एम्स, IGIMS , PMCH , NMCH में इलाज

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ब्लैक फंगस के मरीजों के इलाज के लिए RMRI में दवाई का भंडारण किया गया है.राजधानी पटना में एम्स, IGIMS , PMCH , NMCH में इलाज की विशेष व्यवस्था की गयी है.बता दें कि केंद्र सरकार ने पहले ही ब्लैक फंगस को महामारी की सूची में शामिल कर लिया है.बिहार से पहले ब्लैक फंगस को केंद्र सरकार के साथ-साथ हरियाणा, राजस्थान और तेलंगाना ने पहले ही महामारी घोषित कर दिया है. ब्लैक फंगस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पिछले दिनों यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इसे महामारी घोषित कर दिया था. आज बिहार सरकार भी महामारी की सूची में शामिल कर लिया है। 



Find Us on Facebook

Trending News