भाजपा के कारण मंत्री और सीएम बने हैं नीतीश कुमार, पहले बीजेपी को धोखा दिया अब राजद को भोंक रहे हैं खंजर : अरविन्द सिंह

भाजपा के कारण मंत्री और सीएम बने हैं नीतीश कुमार, पहले बीजेपी को धोखा दिया अब राजद को भोंक रहे हैं खंजर : अरविन्द सिंह

पटना. भाजपा अगर नहीं होती तो नीतीश कुमार न केंद्र में मंत्री बनते और ना ही बिहार के मुख्यमंत्री. लेकिन आज नीतीश कुमार उसी भाजपा और आरएसएस पर सवाल कर रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने शनिवार को ये बातें कही. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिस आरएसएस और प्रधानमंत्री को कह रहे हैं कि आजादी और विकास में क्या योगदान रहा है? उन्हें बता दूँ कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अगर भारतीय जनता पार्टी नहीं होती तो केंद्र में आप मंत्री नहीं बनते, अगर भारतीय जनता पार्टी नहीं होती तो बिहार में आप मुख्यमंत्री नहीं बनते। और बिहार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जितने पैकेज दिए और जितने बिहार के विकास में उनका योगदान है वह आज बिहार के लोगों के दिल दिमाग में बन चुका है. 

उन्होंने कहा कि बिहार के लोग सब देख रहे हैं लेकिन मुख्यमंत्री जिस तरह से आप बिहार में दल बदलने का धोखा देने का और रंग बदलने का दोस्तों को सियासी खंजर मारने का आपने ट्रेक रिकॉर्ड बनाया है वह इतिहास बिहार के इतिहास में कोई दूसरा नेता नहीं बना सके। अरविन्द ने कहा है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का योगदान आजादी में अनेक प्रकार से रहा हैं। निस्वार्थ भाव से सेवा करना हिंदू महासभा के डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भारत के संविधान सभा के सदस्य बने थे। और राष्ट्रवाद के हर एक मुद्दे पर देश के हर आपदा पिपदा में राष्ट्र के लिए खड़ा रहना राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपना कर्तव्य समझता है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राष्ट्रवाद का प्रतीक है । सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का प्रतीक है मानवता के सेवा का प्रतीक है। और आपमें अगर हया शर्म नहीं है तो नीतीश कुमार आप कुछ भी बोलने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश इतने बड़े सियासी कलाकार हैं कि जिस दल में जाते हैं जिस गठबंधन में जाते हैं उसका सियासी फायदा उठा कर सियासी कसीदा पढ़ना चालू कर देते हैं। जो कि आपको 45 सीट पर मुख्यमंत्री बनाए रहें। 

अरविंद ने कहा कि नीतीश अभी तेजस्वी यादव को जिस तरह से सियासी चाल में फंसाए हैं।  वे अंदर ही अंदर पछता रहे हैं कि आप से समझौता क्या किया और मुख्यमंत्री और आप क्या कर रहे हैं. जैसे भाजपा को धोखा दिया वैसे ही राजद को भी आप धोखा दे रहे हैं,राजद को सियासी खंजर मारने में आप फिर कामयाब रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्र जीतनराम मांझी गुजरात का शराब वाला मॉडल लागू करने के लिए कह रहे हैं तो दिल में दर्द हो रहा है। गुजरात नाम से इतना भड़कते क्यों है आप गुजरात देश का आज राज्यों में आदर्श है।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बड़े बड़ाई ना करे बड़े न बोले बोल रहिमन हीरा कब कहे कि लाख टका है मोल. 

Find Us on Facebook

Trending News