भामाशाह की जयंती के मौके पर वैश्य समाज के 56 उपजातियों का हुआ महासमागम, पर्यटन मंत्री ने लिया हिस्सा

भामाशाह की जयंती के मौके पर वैश्य समाज के 56 उपजातियों का हुआ महासमागम, पर्यटन मंत्री ने लिया हिस्सा

NALANDA : आज राजगीर स्थित कन्वेंशन सेंटर में दानवीर भामाशाह की जयंती धूमधाम से मनाई गई।  इस मौके पर वैश्य समाज की 56 उप जातियों का महासमागम हुआ। जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बिहार सरकार के पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद साह ने शिरकत किया। वहीँ बिहार भर से वैश्य समाज के लोग राजगीर पहुँचे और भामाशाह की जयंती बड़े ही धूमधाम से मनाया। 

इस मौके पर पर्यटन मंत्री ने कहा कि भामाशाह बहुत ही दानवीर थे। इतिहास इसका गवाह है। उन्होंने महाराणा प्रताप को उस स्थिति में साथ दिया। जब वे पहाड़ों एवं जंगलों में छिपा करते थे। वहां भामाशाह ने 12 महीनों तक 25,000 सेनाओं को भोजन कराने और उन्हें वेतन देने का काम किया था। इतिहासकारो ने भामाशाह को बहुत ही कम जगह दिया है। हम चाहते हैं कि ऐसे दानवीर का बिहार के हर जिले में कार्यक्रम होना चाहिए। आज राजस्थान में भामाशाह की समाधि राजाओं के बीच में है। वहां के विद्यार्थियों को उनके नाम का अवार्ड दिया जाता है। वहीँ पर्यटन मंत्री ने कहा कि वह सरकार से मांग करेंगे कि राजगीर में उन्हें जमीन उपलब्ध कराया जाए ताकि वहां दानवीर भामाशाह की आदमकद प्रतिमा लगाई जा सके। 

इस मौके पर महाराष्ट्र बीजेपी के सांसद रामदास तडासे, बिहार प्रदेश वैश्य महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष उपेंद्र कुमार विभूति, प्रदेश अध्यक्ष डॉ आनंद कुमार, मेयर पटना स्तुति गुप्ता, यदि के प्रदेश सचिव संजीव कुमार बब्लू के अलावे वैश्य समाज के हजारों लोग कार्यक्रम में मौजूद रहे।

नालंदा से राज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News