पटना में फैली गंदगी पर कांग्रेस का तंज, बिहार में बहार नहीं, गंदगी का अंबार है

पटना में फैली गंदगी पर कांग्रेस का तंज, बिहार में बहार नहीं, गंदगी का अंबार है

पटना.. बिहार में चुनाव है और कोरोना काल के दौरान हो रहे चुनाव में सभी पार्टियां एक-दूसरे को हर मुद्दे पर मात देने की जुगत में लगी हुई है। इस बीच कांग्रस ने अब एक और पटना में ही बड़ा मुद्दा उठाया है। कांग्रेस ने बिहार में फैली गंदगी को लेकर कहा कि बिहार में बहार नहीं, बल्कि गंदगी का अंबार है। लगातार कांग्रेस पार्टी एअरकंडीशन होटलों से उठकर पटना के बीचो बीच स्थित एक ट्रंचिंग ग्राउंड पहुंच गई और इस पर बिहार सरकार को घेरती नजर आई। 

कांग्रेस की ओर से राजधानी के बीचो बीच स्थित ट्रंचिंग ग्राउंड भी कांग्रेस पार्टी के पहुंचते ही सुर्खियां बटोरने लगी है। चुनाव के समय विपक्ष में बैठे दल किसी भी मुद्दे को छोड़ना नहीं चाहते हैं। ऐस में कांग्रेस ने राजधानी के बीचो-बीच स्थित ये ट्रंचिंग ग्राउंड को मुद्दा बनाते हुए गंदगी के लिए पटना को एक खराब जगह बताया है। जिस तरह से सदाकत आश्रम से उठकर कांग्रेस रणदीप सुरजेवाला ने चर्चा कर कहा कि बिहार में बहार नहीं बल्कि गंदगी का अंबार है। 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 2019 के आखिरी में राष्ट्रीय ग्रीन ट्रायबूलन ने बिहार में भयावह कूड़े कचरे की स्थिति से चिंतित होकर कहा था कि बिहार में कूड़ा-कचरा को लेकर इमरेंजेंसी के हालत हैं। इस बीच कांग्रेस के नेताओं ने ट्रंचिंग ग्राउंड खड़े होकर वहां की दुर्दशा के बारे में चर्चा की।  

कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि नीतीश की सरकार में चारो ओर कूड़े का ढ़ेर और पीने के पानी में अंधेर है। बीजेपी और नीतीश सरकार में आकाश यानी वायु प्रदूषण, धरती यानी कूड़े का ढ़ेर और पाताल यानी जल प्रदूषण से पूरा बिहार कांप उठा है। बिहार में हवा, पानी और जमीन सबको नष्ट करके एक जुमलेबाज जो आज आए हैं और एक धोखेबाज जो बिहार की सत्ता में हैं, वो तरक्की के नायक का मुखौटा लगाकर घूम रहे हैं। बिहार में सच्चाई ये है कि भाजपा-जदयू की सरकार ने यहां के जल, वायू और पानी को प्रदूषित किया है। बिहार की बदहाल और बिहार के लोगों को जहरीला पानी पिलाने के साथ 15 सालों में कूड़ा करकट फैलाने का काम भाजपा और जदयू ने किया है। 

स्वच्छता सर्वेछण का खुलासा 2020 में आया है, उसके मुताबिक बिहार में कूड़े का ढ़ेर है। 10 लाख से ज्यादा की आबादी वाले 47 शहरों में पटना सबसे अधिक गंदगी फैली है। एक से 10 लाख की आबादी वाले 382 शहरों की सूची जारी हुई, जिसमें बिहार के 26 शहर सबसे अधिक गंदा पाया गया है। 



Find Us on Facebook

Trending News