सुपौल में वार्ड पार्षद प्रत्याशी की हत्या के बाद जनप्रतिनिधियों का फूटा गुस्सा, पुलिस के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

सुपौल में वार्ड पार्षद प्रत्याशी की हत्या के बाद जनप्रतिनिधियों का फूटा गुस्सा, पुलिस के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

SUPAUL : जिले के  त्रिवेणीगंज नगर परिषद वार्ड पार्षद प्रत्याशी रोहित कुमार मणि उर्फ अश्वनी यादव को 11 बजे रात्रि में मतगणना के ठीक 1 दिन पहले अपराधियों ने  गोली मारी थी। जिससे रोहित गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जिन्हें बेहतर इलाज के लिए बाहर रेफर कर दिया गया। लेकिन गुरुवार को इलाज के क्रम में उनकी मौत हो गई। इसको लेकर शुक्रवार की रात्रि आक्रोशित जनप्रतिनिधियों ने एकचित्र होकर श्याम नगर के समीप एनएच पर टायर जलाकर थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह की अविलंब बर्खास्त करने एवं सभी अपराधियों की फांसी की सजा की मांग की है। 

उसके बाद आज फिर शनिवार को प्रखंड क्षेत्र के तमाम जनप्रतिनिधियों ने अनुमंडल कार्यालय पहुंचकर अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है। वहीं मुखिया संघ के अध्यक्ष राजेश यादव ने बताया वर्तमान मुखिया निधि यादव की सुरक्षा मुहैया कराया जाए एवं उनको पच्चीस लाख राशि की मुआवजा दिया जाए। इस घटना में शामिल सभी अपराधियों को फांसी की सजा दी जाए और त्रिवेणीगंज स्थानीय थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह को अविलंब बर्खास्त की जाए। इनका चरित्र बहुत गंदा है।  वह अपराधियों से सांठगांठ रखता है। इनके आने के बाद त्रिवेणीगंज में आए दिन अपराधों का ग्राफ बढ़ते जा रहा है। शराब कारोबारी में अधिक बृद्धि हो गई है। थाना प्रभारी शराब कारोबारियों से भी गठजोड़ है। थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह को अभिलंब हटाया जाए। 

उन्होंने कहा की सभी मांगे सात दिनों अंदर पूरी नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन होगा। इंजीनियर एलके निराला ने कहा की त्रिवेणीगंज थाना अध्यक्ष एवं अपराधी एक ही जाति के आते हैं। इसलिए वह थाना प्रभारी अपराधी को बचाते हैं। उन्होंने कहा की मुख्य अपराधी स्थानीय थाना से दो सौ  मीटर दूरी की आदर्श मोहल्ला के है और कुछ अपराधियों थाना से करीब एक किलोमीटर दूरी पर। गिरफ्तार अपराधियों में से राजकुमार सिंह उर्फ़ चिंटू सिंह पर त्रिवेणीगंज थाना में आधा दर्जन से अधिक यानी कुल 7 आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

वहीं धीरज कुमार और रौशन पौद्दार पर त्रिवेणीगंज थाना में तीन-तीन अपराधिक मामले पहले दर्ज हैं। वही अपराधी हैं जिन्हें 23 नवंबर कोकलेक्शनकर्मी से एक लाख सैंतीस हज़ार रुपये और मोटरसाइकिल की लूट की घटना को अंजाम दिया था। उसी पैसा से वह लोग हथियार खरीदा था। क्षेत्र में आचार संहिता लागू था । उसके बाद भी धड़ल्ले से हथियार लहराते थे। आखिर क्या कर रही थी। पुलिस उन अपराधियों पर शिकंजा पहले से कश  दिए होते तो आज यह दिन देखने को नहीं मिलता।  थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह अपराधियों से गठजोड़ है। इसलिए क्षेत्र में अपराधी अपराध को घटना अंजाम देते हैं। सभी जनप्रतिनिधियों ने अनुमंडल कार्यालय परिसर में त्रिवेणीगंज पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की है।  त्रिवेणीगंज पुलिस मुर्दाबाद - मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए अश्वनी की पत्नी वर्तमान महैशुवा पंचायत के मुखिया सहित आम लोगों की सुरक्षा की मांग की है। मौके पर बोधी यादव पंचायत समिति कुसाहा, वर्तमान मुखिया अबुल हसन सहित सैकड़ों जनप्रतिनिधि मौजूद थे। 

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News