काम की खबर: राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में OPD सेवा की होगी बन्द,सरकार से मांगी गई राय

काम की खबर: राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में OPD सेवा की होगी बन्द,सरकार से मांगी गई राय

पटना :  कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए सरकार लगातार एहतियात बरत रही है। बिहार के सरकार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना वायरस को रोकने के लिए लगातार तरीके अपनाए जा रहे हैं। सरकार के द्वारा पूरे बिहार में लॉक डाउन कर दिया गया है और अब इसे सख्ती से लागू भी करवाया जा रहा है लेकिन अब राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में ओपीडी बंद की जा सकती है। क्योंकि कोरोना का संक्रमण भीड़ से फैलता है और सरकार की कोशिश है कि कहीं भीड़ न लगे।

पीएमसीएच में बन्द हो सकता है ओपीडी सेवा,इमरजेंसी सेवा रहेगा चालू
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए रोकथाम की सारी व्यवस्था की जा रही है। जानकारी के मुताबिक कोरोना का संक्रमण भीड़ से ज्यादा फैलता है। सरकार की कोशिश है कि कोरोना कम्युनिटी इंफेक्शन से ना फैले ।इसको देखते हुए एम्स पटना और आईजीआईएमएस ओपीडी सेवाएं पहले से बंद कर दी गई है ।

गौरतलब है कि पटना के 3 बड़े अस्पतालों में ओपीडी सेवाओं में राज्य भर के लोग मरीज दिखाने आते हैं। जाहिर सी बात है कि इस वक्त काफी भीड़ लगती है । बता दें कि कोरोना फैलने के लिये भीड़ सबसे बड़ा खतरा है ।इन परिस्थितियों को देखते हुए आईजीआईएमएस के बाद अब प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच की ओपीडी बंद की जा सकती है ।पीएमसीएच के सभी विभागाध्यक्षों ने इससे संबंधित प्रस्ताव अधीक्षक को सौंप दिया है ।पीएमसीएच के अधीक्षक विमल कारक ने इसके सम्बन्ध में सरकार से मार्गदर्शन  मांगा है।

 हालांकि लॉकडाउन की वजह से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार को पीएमसीएच के ओपीडी में 390 रोगी परामर्श लेने पहुंचे ।लेकिन इन लोगों के बीच सबसे बड़ी बात यह थी कि जितने रोगी थे उससे कहीं ज्यादा उनके परिजन उनके साथ में थे ।यह स्थिति खतरनाक हो सकती है इसे देखते हुए पीएमसीएच की ओपीडी बंद करने के लिए सरकार से मार्गदर्शन मांगा गया है।

Find Us on Facebook

Trending News