हार्वर्ड यूनिवर्सिटी पहुंचे प्रशांत किशोर का दावा, कहा - मैं चुनाव नतीजे नहीं बदल सकता

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी पहुंचे प्रशांत किशोर का दावा, कहा - मैं चुनाव नतीजे नहीं बदल सकता

NEWS4NATION DESK : राजनीतिक रणनीतिकार से सियासत में आये PK का जलवा इन दिनों हार्वर्ड में देखने को मिल रहा है। जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में 17 फरवरी को लेक्चर दिया। प्रशांत किशोर का लेक्चर 'इंडिया कॉन्फ्रेंस 2019' कार्यक्रम में 'Decoding The Emergent Politics of Youth & Digital Media' विषय पर था। 

प्रशांत किशोर ने ब्राउन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर आशुतोष वार्ष्णेय बात करते हुए दावा किया कि उन्होंने अगले 2 सालों तक एक लाख युवाओं को चिन्हित कर, उन्हें सक्रिय राजनीति में लाने का फ़ैसला किया है। पीके ने फिर कहा कि वह लोकसभा का चुनाव नहीं लडेंगे और अगले कुछ सालों तक युवाओं के साथ काम करना चाहते हैं।

 बकौल पीके उन्हें मीडिया में बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। कोई भी व्यक्ति चुनावी नतीजों में बदलाव नहीं ला सकता है। मेरे जैसे लोग मार्जिंन में कुछ अंतर ला सकते हैं। प्रशांत किशोर ने कहा कि जिला स्तर पर और उससे नीचे निर्वाचित निकायों को डवलपमेंट बजट का कम से कम 50 फीसदी हिस्सा मिलना चाहिए. बहुत से विधायक और सांसद ऐसे काम कर रहे हैं, जो उनका काम नहीं है, जैसे- जल निकासी का निर्माण. इस तरह का काम स्थानीय निकाय का है। सांसद और विधायक कानून बनाने के लिए होते हैं। विधायक या सांसद के चुनाव से ज्यादा पैसा जिला परिषद का चुनाव जितने में खर्च होता है.

Find Us on Facebook

Trending News