प्रेमिका के साथ पकड़े जाने के बाद तय हुई थी शादी, लेकिन नहीं पहुंचे दारोगा जी, अब होगा महापंचायत

प्रेमिका के साथ पकड़े जाने के बाद तय हुई थी शादी, लेकिन नहीं पहुंचे दारोगा जी, अब होगा महापंचायत

डेस्क...  बिहार के समस्तीपुर में प्रेमिका के घर रंगे हाथ पकड़े गए एक दारोगा का मामला अब तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है। जिले के विभूतिपुर प्रखंड क्षेत्र के एक गांव में प्रेमिका के साथ प्रेममिलाप करते पकड़े जाने के बाद दारोगा जी की शादी उसी प्रेमिका के साथ 10 दिसंबर को तय कर दिया गया था, लेकिन इसी बीच, बीमार होने का बहाना बना वह निजी क्लीनिक में भर्ती हो गया। अब वह चुपके से रांची चला गया। शादी टल गई। अब रविवार को महापंचायत है।  

इस बीच, प्रेमिका के घर शादी की पूरी तैयारी की जा चुकी थी। दो ग्राम पंचायतों के पंचों ने शर्तों के आधार पर शादी की इस तिथि को टाल दिया है।  विभूतिपुर प्रखंड क्षेत्र के एक गांव में प्रेमिका के घर प्रेमालाप करते रंगे हाथों पकड़े गए झारखंड के दारोगा जी की शादी गुरुवार रात्रि नहीं हो सकी। कारण, बहुत कम समय में शादी की तिथि सेट कर दिया जाना बताया गया है।

इस संबंध में बताया जाता है कि झारखंड के रांची जिले में पदस्थापित विभूतिपुर थाना क्षेत्र के वासोटोल गांव निवासी दारोगा यशवंत कुमार गत 28 नवंबर की रात्रि पड़ोस के हीं एक ग्राम पंचायत के एक गांव में अपनी प्रेमिका के घर रंगेहाथ ग्रामीणों द्वारा दबोच लिया गया था। उसने ग्रामीणों के समक्ष प्रेम की कहानी का वाकया स्वीकार की थी। जहां रातभर चले पंचायत के बाद आगामी 10 दिसम्बर को शादी करने की तिथि तय कर बॉन्ड भरकर उसे मुक्त किया गया था। 

वहां से लौटने के बाद दारोगा बीमार होने का बहाना बनाकर एक निजी क्लीनिक में भर्ती हो गया। जहा से वह चुपके से अपनी ड्यूटी को लेकर रांची चला गया। इसकी भनक लगते ही प्रेमिका के गांव वालों ने उसे न्याय दिलाने को लेकर सक्रियता दिखाई तो दरोगा के परिजनों ने पंचायत की शरण ली। पंचों ने एक लाख का मुचलका जमा करवाकर आगामी 13 तारीख को महापंचायत बुलाने की बात कही है। इसमें गणमान्य लोगों की उपस्थिति होगी। अब, लोगों की नजर रविवार को होनेवाली महापंचायत के फैसले पर जा टिकी है। लड़की पक्ष के पंचायत के उपमुखिया योगेंद्र प्रसाद ने बताया कि पंचों के निर्णय का अनुपालन कराया जाएगा। 



Find Us on Facebook

Trending News