प्रधानमंत्री के हनुमान की होगी घर वापसी! केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाएंगे चिराग, हो गई है पूरी तैयारी

प्रधानमंत्री के हनुमान की होगी घर वापसी! केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाएंगे चिराग, हो गई है पूरी तैयारी

PATNA : बिहार की राजनीति से हर दिन कोई न कोई खबरें सामने आ रही हैं। जहां बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शिकस्त देने ने लिए तमाम विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने में लगे हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ अब यह खबर सामने आ रही है कि खुद को प्रधानमंत्री का हनुमान बतानेवाले चिराग पासवान की भी एनडीए में वापसी होने जा रही है। बताया जा रहा है कि चिराग पासवान को केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। लेकिन औपचारिक घोषणा होना बाकि है। 

बता दें पिछले कुछ समय से चिराग के एनडीए में वापसी के संकेत मिल रहे थे। वह एनडीए की बैठकों में शामिल हो रहे थे। वहीं दूसरी तरफ जदयू के एनडीए से अलग होने के बाद चिराग की एनडीए में वापसी की संभावना बढ़ गई थी। लेकिन अब लगभग तय है कि कि चिराग पासवान की पार्टी फिर से NDA गठबंधन का हिस्सा होगी। चिराग पासवान को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। वो केंद्र में मंत्री बनेंगे।

पितृपक्ष के बाद मिलेगी खुशखबरी

चिराग पासवान की एनडीए में वापसी की खबर पर लोकजनशक्ति पार्टी (रामविलास) की तरफ से भी मुहर लग गई है। प्रदेश प्रवक्ता प्रोफेसर विनित सिंह ने भी माना कि इस बात में पूरा दम है। बस सही समय का इंतजार है। अभी भादो का महिना चल रहा है। इसके बाद पितृपक्ष की भी शुरुआत हो जाएगी। इसके बाद निश्चित तौर पर खुशखबरी आएगी। फिर आधिकारिक तौर पर सबको इसकी जानकारी दी जाएगी।

चिराग ने रखी थी पांच शर्तें

पार्टी प्रवक्ता का कहना है कि चिराग पासवान ने जिन शर्तों को भाजपा के सामने रखा था। वो आज भी कायम हैं। 95 प्रतिशत बातों को भाजपा की ओर से मान लिया गया है। सिर्फ 5 प्रतिशत ही बाकी है। पेंच सिर्फ NDA गठबंधन में शामिल और केंद्रीय मंत्री चाचा पशुपति कुमार पारस को लेकर फंसा है। इन्हें इस गठबंधन से बाहर का रास्ता दिखाना ही होगा। क्योंकि, इन्होंने न सिर्फ लोजपा को तोड़ा, बल्कि परिवार का भी बंटवारा कर दिया।

दूसरी तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू है। जिसके लिए NDA में एंट्री का दरवाजा हमेशा के लिए बंद करना पड़ेगा। बड़ी बात यह है कि चिराग पासवान को गठबंधन में शामिल कराने की पहल भाजपा और केंद्र सरकार की तरफ से ही शुरू की गई है।

केंद्रीय मंत्री लगातार कर रहे थे बात

इस सवाल पर प्रदेश प्रवक्ता ने अपनी हामी भरी और कहा कि उनकी भूमिका सफल होती दिख रही है। केंद्रीय मंत्री के नाम का खुलासा तो नहीं किया, पर उन्होंने बताया कि वो लगातार चिराग पासवान से NDA में शामिल होने के मुद्दे पर बात कर रहे थे। पर हमारी कुछ शर्तें थी। जिसे उनके सामने पहले ही रखा गया था। लोजपा (रामविलास) कभी भी भाजपा के विरोध में नहीं रही है।

Find Us on Facebook

Trending News