पटना हाईकोर्ट में जनहित याचिकाओं पर हुई सुनवाई, केंद्र सरकार से बिहार को ऑक्सीजन आपूर्ति और उपलब्धता का मांगा ब्यौरा

पटना हाईकोर्ट में जनहित याचिकाओं पर हुई सुनवाई, केंद्र सरकार से बिहार को ऑक्सीजन आपूर्ति और उपलब्धता का मांगा ब्यौरा

PATNA : पटना हाईकोर्ट में कोरोना महामारी से सम्बंधित जनहित याचिकाओं पर सुनवाई की। शिवानी कौशिक व अन्य के जनहित याचिकाओं पर चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार से बिहार को ऑक्सीजन आपूर्ति और उपलब्धता के बारे पूरा ब्यौरा मांगा। पिछली सुनवाई के दौरान खंडपीठ ने कहा था कि कोरोना के नए वैरिएंट के मद्देनजर हमें डरने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन सावधान रहने की जरूरत है। कोरोना का खतरा अभी भी बरकरार है। पिछली सुनवाई में खंडपीठ ने राज्य सरकार से कोरोना को लेकर राज्य भर में कराई गई सुविधाओं के संबंध में विस्तृत ब्यौरा तलब किया था। कोर्ट ने विशेष तौर पर साउथ अफ्रीका में फैले कोविड के नए वैरियंट ओमाइक्रोन के मद्देनजर राज्य में ऑक्सीजन के उत्पादन और भंडारण के संबंध में राज्य सरकार को सूचित करने को कहा था। 

कोर्ट को महाधिवक्ता ने यह बताया था कि लोग कोरोना सम्बन्धी दिशा निर्देश को गम्भीरता से नहीं ले रहे हैं और नियमों का पालन सख्त ढंग से नहीं कर रहे हैं। अभी भी अधिकतर लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र सरकार को भी बिहार में आक्सीजन की आपूर्ति के संबंध में विस्तृत जानकारी देने को कहा था। 

एम्स, पटना के अधिवक्ता विनय कुमार पांडेय ने बताया कि कोर्ट ने उसके पूर्व भी राज्य में उपलब्ध मेडिकल स्टाफ, दवाइयां, आक्सीजन व एम्बुलेंस आदि के संबंध में ब्यौरा तलब किया था। इस मामले पर अब 16दिसम्बर, 2021 को फिर सुनवाई की जाएगी। 

Find Us on Facebook

Trending News