पूर्व केन्द्रीय मंत्री के सामने नक्सली नेता जगदीश मास्टर ने रखी शर्त, इन मांगों को माने सरकार तब होगी वार्ता

पूर्व केन्द्रीय मंत्री के सामने नक्सली नेता जगदीश मास्टर ने रखी शर्त, इन मांगों को माने सरकार तब होगी वार्ता

AURANGABAD : पूर्व केंद्रीय मंत्री, भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य और विधान पार्षद डॉ. संजय पासवान ने आज शीर्षस्थ माओवादी नेता और मिलिट्री कमीशन के सदस्य रहे बहुचर्चित नक्सली नेता जगदीश मास्टर से मुलाकात की. दोनों की मुलाकात औरंगाबाद जिले के रफीगंज प्रखंड के कासमा में हुई है. इस मौके संजय पासवान ने माओवादियों को भारत के संविधान में विश्वास और आस्था रखते हुए सरकार से संवाद कायम करने की सलाह दी है. भाजपा नेता ने नक्सली नेता से लगभग 2 घंटे तक बातचीत की. दोनों के बीच कई गम्भीर मामलों पर बातचीत हुई. 

बातचीत के बाद डॉ. संजय पासवान ने कहा कि वे अपनी संस्था कबीर के लोग संस्था की ओर से पटना से नक्सल नेता से एक टीम के साथ संवाद स्थापित करने आये थे. उन्होंने कहा की कि माओवादी भी इसी देश के लोग हैं. उनसे विवाद नहीं संवाद होना चाहिए. वे चाहते हैं कि माओवादी मुख्यधारा में आये. यही उनका प्रयास है. उन्होंने कहा कि सरकार और माओवादियों के बीच सम्वाद स्थापित हो इसके लिए वे प्रयास करेंगे. दोनों के बीच बातचीत सार्थक रही है. वही नक्सली नेता जगदीश मास्टर ने सशर्त वार्ता की पेशकश की है. 

उन्होंने कहा कि सरकार खुद को कल्याणकारी बताती है. लेकिन वह केवल टाटा, अदानी और अम्बानी का कल्याण कर रही है. लोगों से जंगल छोड़ने के लिए कहा जा रहा है. लेकिन जंगल छोड़कर लोग जायेंगे कहाँ. नक्सलियों से हथियार छोड़कर बातचीत करने की पेशकश की जाती है. लेकिन पुलिस हथियार नहीं छोड़ती. ऐसी स्थिति में कैसे वार्ता होगी. उन्होंने कहा की सरकार वार्ता से पहले जेलो में बंद नक्सलियों को रिहा करें. साथ ही हमारे इलाके से सभी सुरक्षा बलों को वापस हटा लिया जाए. 

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News