बिहार विधानसभा चुनाव में नहीं चला राहुल गांधी का जादू... 52 क्षेत्रों में चुनावी सभा में से 42 हार रहा महागठबंधन...

बिहार विधानसभा चुनाव में नहीं चला राहुल गांधी का जादू... 52 क्षेत्रों में चुनावी सभा में से 42 हार रहा महागठबंधन...

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के मतगणना का कार्यक्रम चल रहा है ऐसे में रुझान भी काफी हद तक आ चुके हैं जहां एनडीए गठबंधन बहुमत साबित करने तक दिख रही है तो महागठबंधन बहुमत से काफी पीछे है। हालांकि अभी तक पूरी मतगणना नहीं हुई है मतगणना के बाद ही यह कहना तय होगा कि बिहार में किसकी सरकार बनेगी लेकिन अब तक के नतीजे देखने से ऐसा लग रहा है कि फिर से बिहार में एनडीए गठबंधन की सरकार बनने जा रहे हैं अब हम बात कर रहे हैं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की तो इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी का जादू नहीं चला क्योंकि उन्होंने अब तक जिन क्षेत्रों में रैली कि वहां के 52 सीटों में 42 सीटें महागठबंधन के खाते से निकलती दिख रही है और महज 10 सीटों पर ही जीत दर्ज किया जा सकता है।

आपको बताते चलें कि  इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है  पिछली बार की तुलना में 6 अधिक सीटों पर बढ़त बनाई है।इसी तरह सीमांचल में वह छह सीटों का नुकसान भी झेल रहा है। एनडीए ने दूसरे और तीसरे चरण में अच्छा प्रदर्शन किया है।वहीं दूसरी ओर एक बार फिर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी फ्लॉप साबित हुए हैं। आंकड़ों पर अगर गौर करें तो 52 सीटों को प्रभावित करने वाली जिन 8 लोगों पर राहुल गांधी के द्वारा चुनावी रैली किया गया था वहां महागठबंधन की स्थिति काफी ठीक नहीं है 52 सीटों में 42 सीटें महागठबंधन के खाते से निकलती दिख रही है तो 10 सीटें महागठबंधन के खाते में आ सकती है ऐसे में यह कहा जा रहा है कि इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी की जादू नहीं दिखा।

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में कांग्रेस नेताओं की दिल्ली की पूरी टीम ने राज्यभर का दौरा किया था और पार्टी नेताओं ने इस चुनाव में 59 सभाएं की थीं।इनमें से राहुल गांधी ने हर चरण में दो और तीसरे चरण में चार यानी कुल आठ सभाएं बिहार में की थीं। राहुल ने पहले चरण में हिसुआ और कहलगांव में सभाएं कीं और उसके बाद उन्होंने कुशेश्वरस्थान और वाल्मीकिनगर तथा तीसरे चरण में कोढ़ा, किशनगंज, बिहारीगंज और अररिया में सभाओं को संबोधित किया था।

हालांकि अब तक मतगणना का  कार्यक्रम चल रहा है ऐसे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी जब तक चुनाव का पूरा परिणाम सामने नहीं आ जाता तब तक कुछ भी कहा नहीं जा सकता।

Find Us on Facebook

Trending News