परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की हुई बैठक, 76 ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने सहित हुए कई फैसले

परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की हुई बैठक, 76 ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने सहित हुए कई फैसले

PATNA : सड़क सुरक्षा को लेकर शुक्रवार को परिवहन मंत्री शीला कुमारी की अध्यक्षता में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सड़क सुरक्षा हेतु विभिन्न संबंधित विभागों (स्टेक होल्डर) एवं सभी जिला परिवहन पदाधिकारी सह सचिव जिला सड़क सुरक्षा समिति द्वारा किये जा रहे कार्यों व भविष्य के कार्य योजनाओं पर विभागवार समीक्षा की गई। इसके साथ ही सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु वितीय प्रस्ताव पारित किये गए। 

विभिन्न विभागों द्वारा दिखाया गया पीपीटी

बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् के विभिन्न स्टेक होल्डर डिर्पामेंट यथा नगर विकास एवं आवास विभाग, स्वास्थ्य विभाग,  शिक्षा विभाग, गृह विभाग, परिवहन विभाग, एनएचएआई, पथ निर्माण एवं ग्रामीण कार्य विभाग के नोडल पदाधिकारियों द्वारा पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के जरिए वर्ष 2020-21 में किए गए कार्य, अनुपालन प्रतिवेदन व कार्य योजनाओं पर प्रकाश डाला गया। इसके पूर्व राज्य परिवहन आयुक्त श्रीमती सीमा त्रिपाठी द्वारा बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् द्वारा किये जा रहे कार्यों से पीपीटी के माध्यम से अवगत कराया गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष रुप से चलाए जाऐंगे सड़क सुरक्षा जागरुकता कार्यक्रम

परिवहन विभाग मंत्री शीला कुमारी ने परिषद द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष रुप से सड़क सुरक्षा जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि शहर में जागरुकता अभियान चलाए जा रहे हैं. इसे अब ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ाने की आवश्यकता है। गांव-गांव में रिक्शा पर माइकिंग के माध्यम से हेलमेट एवं अन्य सड़क सुरक्षा नियमों व प्रावधानों की जानकारी लोगों को दी जाए। कोरोना के बाद गावों में नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा हर व्यक्ति एवं परिवार से जुड़ा विषय है। राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में कमी आए इसके लिए सभी विभाग को मिल कर काम करना होगा तभी साकारात्मक परिणाम आ सकेगा। 

राज्य में खोले जाऐंगे 76 ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि जिलों में ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक का निर्माण एवं ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलने की कार्रवाई की जा रही है। राज्य में कुल 76 ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोले जाऐंगे। पूर्व में 38 जिलों के लिए 61 ड्राइविंग स्कूल खोलने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसकी संख्या बढ़ा कर 76 किया गया है। चालकों के ड्राइविंग क्वालिटी में सुधार होने के बाद सड़क दुर्घटनाओं में कमी आ सकेगी। 

5 एनएच जहां सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाएं होती हैं उसका करें सर्वे

परिवहन सचिव ने संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि 5 एनएच जहां सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाएं होती हैं वैसी सड़कों का सर्वे करा कर परिमार्जन का कार्य कराएं। साथ ही गंभीर सड़क दुर्घटनाओं का शत प्रतिशत संयुक्त एवं वैज्ञानिक जांच/अनुंसाधन का निर्देश दिया गया। 

दुर्घटना में कमी लाने के लिए योजनावद्ध तरीके से किये जा रहे कार्य

सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए योजनावद्ध तरीके से बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् द्वारा कार्य किये जा रहे हैं। सड़क सुरक्षा हेतु सभी जिलों में जागरुकता अभियान चलाए जा रहे हैं। इसके साथ ही वाहन जांच का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिलों में इसका साकारात्मक परिणाम देखने को मिला है। जागरुकता एवं सख्ती की वजह से जिलों में हेलमेट एवं सीटबेल्ट धारण करने वालों का प्रतिषत में बढ़ोतरी हुई है। 

तृतीय चरण में 500 अतिरिक्त बस स्टाॅप का होगा निर्माण

 सुरक्षित परिवहन को बढ़ावा देने तथा यात्रियों के सुरक्षित पड़ाव की सुविधा हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में बस स्टाॅप का निर्माण कार्य चल रहा है। अब तक दो चरणों में 1082 लक्ष्य के विरुद्ध 409 स्थलों पर बस स्टाॅप का निमार्ण कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष स्थलों पर कार्य प्रगति पर है। तृतीय चरण में 500 अतिरिक्त बस स्टाॅप का निर्माण प्रस्तावित है। 

राज्य परिवहन आयुक्त श्रीमती सीमा त्रिपाठी ने कहा कि सड़क दुर्घटना में घायल पीड़ितों की मदद करने वाले गुड सेमेरिटन को सम्मानित किया जा रहा है। राज्यभर में अब तक 597 गुड सेमेरिटन को परिवहन विभाग द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक यातायात एम. आर. नायक, पुलिस अधीक्षक यातायात अमरकेश डी, आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव एम रामचंद्रडू, पथ निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता धनंजय कुमार बम्पट, नगर विकास एवं आवास विभाग के कार्यपालक अभियंता यदूनाथ साहू, शिक्षा विभाग से राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी विभा रानी, स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक डा देवेंद्र कुमार गुप्ता आदि उपस्थित थे।

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News