राष्ट्रपति भवन से निकलकर बिहार के इस दिवगंत नेता के बंगले में रहेंगे रामनाथ कोविंद, सजावट का काम हुआ शुरू

राष्ट्रपति भवन से निकलकर बिहार के इस दिवगंत नेता के बंगले में रहेंगे रामनाथ कोविंद, सजावट का काम हुआ शुरू

NEW DELHI : देश के मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल अगले माह खत्म हो रहा है। ऐसे में जब यह तय हो गया है कि वह दोबारा राष्ट्रपति नहीं बनेंगे। ऐसे में अब उनके लिए नए बंगले की तलाश शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि यह तलाश पूरी कर ली गई है और यह तलाश खत्म हुई है बिहार के दिग्गज और दिवंगत नेता स्व. रामविलास पासवान के 12 जनपथ स्थित बंगले (12 Janpath bungalow) पर जाकर। 

बताया जा रहा है कि रामविलास पासवान के नाम पर तीन दशक तक आवंटित बंगले को कोविंद के लिए तैयार किया जा रहा है और उनकी बेटी ने हाल में इस घर का निरीक्षण किया था।  बताया जा रहा है कि 12 जनपथ बंगला अभी तक आधिकारिक रूप से किसी को आवंटित नहीं किया गया है, उसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नए आशियाने के तौर पर तैयार किया जा रहा है जो इस पद पर अपना कार्यकाल समाप्त होने के बाद इसमें रहने आएंगे।

रेल मंत्री को मिला था बंगला

शुरू में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को यह बंगला आवंटित किया गया था जो लुटियन्स दिल्ली के सबसे बड़े बंगलों में से एक है। बाद में वैष्णव को पृथ्वीराज रोड स्थित आवास आवंटित किया गया।

चिराग ने की थी म्यूजियम बनाने की मांग

इस बंगले में रामविलास पासवान के निधन के बाद उनके बेटे चिराग पासवान कई महीने से रह रहे थे। चिराग पासवान चाहते थे कि इस बंगले को रामविलास पासवान के नाम पर म्यूजियम का रुप दिया जाए। इसके लिए उन्होंने कोशिश भी की, लेकिन इसमें कामयाबी नहीं मिली। इसी साल चिराग पासवान से इस बंगले को खाली करा दिया गया।


Find Us on Facebook

Trending News