माले विधायकों ने कहा - सरकार के काम पर कलंक है सुपौल में परिवार की सामूहिक आत्महत्या की घटना

माले विधायकों ने कहा - सरकार के काम पर कलंक है सुपौल में परिवार की सामूहिक आत्महत्या की घटना

PATNA. बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू है और हर दिन माले विधायकों ने एक नए मुद्दे को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की है। विधानसभा बजट सत्र के चौथे सप्ताह की शुरूआत भी माले विधायको ने उसी तरह के विरोध प्रदर्शन के साथ शुरू की। सदन की बैठक शुरू होने से पहले दो दिन पूर्व सुपौल में एक ही परिवार के पांच लोगों के आर्थिक तंगी के कारण आत्महत्या करने की घटना को लेकर सरकार पर सवाल उठाए गए। माले विधायकों ने कहा सरकार की योजनाएं कहां चल रही हैं और इससे किसे फायदा हो रहा है। यह सुपौल की हृदय विदारक घटना से समझा जा सकता है।

इस दौरान माले विधायकों न  नल जल योजना के तहत चल रही वसूली को बंद करने तथा  कम से कम ₹3000 वृद्धावस्था पेंशन की गारंटी करने की मांग की।  माले विधायकों ने कहा कि सरकार आज सभी बैंकों को निजीकरण पर जोर दे रही है, जिसके कारण बैंक में दो दिन तक देशव्यापी हड़ताल पर हैं। इसी तरह कबीर अंत्येष्टी योजना का लाभ भी लोगों को समय पर नहीं मिल पाता है।

माले विधायकों ने कहा कि इन तमाम मुद्दों को लेकर के आज माले विधानसभा में उठाने वाली हैं और सरकार के सहमति है देखने वाली रहेगी कि इन सब बातों को किस रूप में देखती है।  


Find Us on Facebook

Trending News