स्कूल बंद के विरोध में पटना में जम कर हुआ बवाल, सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

स्कूल बंद के विरोध में पटना में जम कर हुआ बवाल, सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

पटना : बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए  जहाँ राज्य सरकार ने 11 अप्रैल तक प्रदेश में सभी शिक्षा संस्थान को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है जिसके बाद इस फैसले के विरोध में प्रदर्शन भी शुरू हो चुका हैं. वहीं राजधानी पटना  से सटे बिहटा  चौक पर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ऑफ बिहार के बैनर तले इस गलत नीतियों के विरोध में शांतिपूर्ण तरीके से विरोध मार्च निकाला गया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वही इसके बाद सभी संस्थान के सदस्यों एवं स्कूल के निर्देशक एवं शिक्षकों ने एक बैठक भी की और 12 अप्रैल से हर हाल में स्कूल खोलने का निर्णय लिया. 

वही इस विरोध प्रदर्शन में काफी संख्या में स्कूल के निर्देशक एवं शिक्षक भी शामिल दिखे.वही स्कूल के संचालकों एवं कोचिंग संचालकों का कहना है कि इस गलत नीतियों से स्पष्ट होता है कि सरकार को शिक्षा से कोई महत्व नहीं रखना है उनको केवल मॉल और बाजार के अलावा बड़े-बड़े संस्थान जैसे मॉल, फैक्ट्रियां जरूरी है बच्चों के भविष्य की कोई चिंता सरकार को नहीं है.यहां तक चुनाव में लाखों लोग देखने को मिल रहा है लेकिन इस पर कोई भी सरकार बोलने को तैयार नहीं है केवल शिक्षा संस्थान पर उनकी नजर बनी रहती है इसलिए हमारी स्पष्ट मांग है कि 12 तारीख से हर हाल में स्कूल को खोलेंगे.

वही इस बैठक में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव संजय मिश्रा, कोषाअध्यक्ष मुकेश कुमार ,कुमार गौरव,मनीष कुमार, प्रवक्ता शिव शंकर के अलावा एसोसिएशन के सभी सदस्य शामिल थे.वही इस मौके पर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ऑफ बिहार के अध्यक्ष दिलीप कुमार बताते हैं कि सरकार के इस दोगले नीति के विरोध में आज हमने शांतिपूर्ण तरीके से विरोध मार्च निकाला और इस विरोध मार्च के जरिए सरकार को बताने की कोशिश किया है कि सरकारों केवल शिक्षा संस्थाओं में कोरोना दिखता हैं बाजार में यहां तक कि अस्पतालों में इतनी भीड़ दिख रहा है लेकिन सरकार इस पर कोई एक्शन लेने को तैयार नहीं है यहां तक चुनाव भी हो रहे हैं चुनाव में कई लाखों की भीड़ जुट रही है लेकिन कोई भी सरकार इस पर बोलने को तैयार नहीं है सरकार को केवल स्कूल दिख रहा है पिछले 1 साल से बच्चों के भविष्य काफी खराब हो चुके हैं उनकी चिंता सरकार को नहीं है इसलिए हम सभी लोगों ने निर्णय लिया है कि 12 तारीख से हर हाल में शिक्षा संस्थान को खोलेंगे और बच्चों को पढ़ाएंगे इसके लिए चाहे कुछ भी हो जाए बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ सरकार को करने नहीं करने देंगे...




Find Us on Facebook

Trending News