सरकार बनते ही बदले तेजस्वी के सुर, JDU के ललन सिंह का नाम लेकर प्रतिद्वंद्वी पर हमला... कहा अब कुछ बताने को बाकी है क्या

सरकार बनते ही बदले तेजस्वी के सुर, JDU के ललन सिंह का नाम लेकर प्रतिद्वंद्वी पर हमला... कहा अब कुछ बताने को बाकी है क्या

पटना. बिहार में सरकार बनाते ही तेजस्वी यादव ने अब प्रतिद्वंद्वी दलों पर हमला बोला है. उन्होंने भाजपा को निशाने पर लेते हुए गुरुवार को जमकर सुनाया. उप मुख्यमंत्री की कुर्सी सँभालने वाले तेजस्वी यादव ने कहा महागठबंधन के लोग जनता के लिए चिंतित रहते हैं. हम जनता के हितों के लिए काम करते हैं. वहीं भाजपा है जो जोड़तोड़ की राजनीति में लगी रहती है. 

उन्होंने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि बीजेपी का एक ही सिद्धांत है. जो डरेगा उसे आयकर विभाग और प्रवर्त्तन निदेशालय यानी इडी से डराओ. जैसा देश में कई जगहों पर देखा गया है. वहीं जो बिकेगा उसे खरीद लो और भाजपा में मिला लो. भाजपा इसी रणनीति पर देश में राजनीति कर चल रही है. वहीं महागठबंधन हमेशा से जनता के चेहरे पर ख़ुशी लाने के लिए काम करती है. 

विभिन्न घोटालों में तेजस्वी यादव ने खुद के नामजद होने के सवाल पर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह का नाम लेते हुए कहा कि जो आरोप उन पर लगाए गए हैं उसके बारे में ललन सिंह ने विस्तार से बताया ही है. दरअसल, ललन सिंह ने बुधवार को कहा था कि आईआरसीटीसी मामले में वर्ष 2017 में आरोपपत्र दाखिल हुआ था लेकिन आज तक इसमें ट्रायल शुरू नहीं हुआ है. ललन सिंह ने तेजस्वी का बचाव करते हुए केंद्र की कार्यपद्धति और मंशा पर सवाल उठाया है. तेजस्वी ने ललन के उसी बयान का हवाला देकर अपनी बात रखी और कहा कि अब कुछ बताने को बाकी है क्या. 

तेजस्वी ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में नई सरकार बनने से बिहार में ख़ुशी का माहौल है. गरीब-गुरबों के चेहरे पर ख़ुशी आ गई है. जिस जनता की मुस्कान छिन गई थी, अब महागठबंधन की सरकार बनने के बाद उनके चेहरे पर ख़ुशी झलक रही है. इसके पूर्व तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मिलकर 11 अगस्त 1942 को पटना सचिवालय पर राष्ट्र ध्वज फहराने वाले सात शहीदों की प्रतिमा पर माल्यार्पण- पुष्पांजलि कर श्रद्धांजली दी. 


Find Us on Facebook

Trending News