घर से भागी और तस्करों के चंगुल के छूटी युवतियों को बिहार सरकार देगा ठिकाना, जिंदगी को फिर से जीने का मिलेगा मौका

घर से भागी और तस्करों के चंगुल के छूटी युवतियों को बिहार सरकार देगा ठिकाना, जिंदगी को फिर से जीने का मिलेगा मौका

PATNA : घर से भागी और मानव तस्करों से मुक्त करायी गई युवतियों के लिए बिहार की नीतीश सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। राज्य सरकार ने फैसला लिया है कई ऐसी लड़कियों को रखने के लिए हर जिले में एक रक्षा गृह की स्थापना की जाएगी। यह रक्षा गृह महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत संचालित किया जाएगा। वहीं हर रक्षा केंद्र में 50 लड़कियों के रहने की व्यवस्था होगी। 

समाज कल्याण निदेशालय के अनुसार सभी जिलों में रक्षा गृह बनेगा। साथ ही रक्षा गृह में सुरक्षा के साथ उनके हुनर को निखारने का काम किया जाएगा। निदेशालय के अनुसार यह देखा जा रहा है कि भाग कर बाल विवाह करने वाली लड़कियों के लिए जीना मुश्किल हो रहा है। भागकर बाल विवाह करने वाली लड़कियों को न तो मायके वाले रखना चाहते हैं और न ही ससुराल वाले। नादानी में उठायेगयेकदम उनके जिंदगी के नासूर बन जाता है। पढ़ाई, लिखाई से लेकर सामाजिक जीवन खत्म हो जाता है। ऐसी लड़कियों के लिए जिलों में बन रहा रक्षा गृह बड़ा सहयोग प्रदान करेगा। उन्हें रक्षा गृह में पढ़ाई-लिखाई के साथ जीवन कौशल का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

पहले का अनुभव सरकार के हिस्से में लाया था बदनामी

इससे पहले महिला एवं बाल विकास निगम की ओर से पहले भी पांच जिलों में रक्षा गृह खोले गये थे। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के बाद रक्षा गृह को बंद कर दिया गया था। अभी बालिका गृह में घर भागी हुई, भूली भटकी और आपराधिक घटनाओं में संलिप्त लड़कियों को एक साथ रखा जाता है। लेकिन देखा गया इसमें अपराधिक छवि वाली लड़कियों से सामान्य लड़कियां खुद को असहज करती हैं, जिसके बाद अब इन्हें अलग करने का फैसला लिया गया है। 

Find Us on Facebook

Trending News