पुलिस की गिरफ्त आए साइबर अपराधी का बॉस निकला नालंदा जिला का एक मुखिया, पूछताछ में हुआ बड़ा खुलासा

पुलिस की गिरफ्त आए साइबर अपराधी का बॉस निकला नालंदा जिला का एक मुखिया, पूछताछ में हुआ बड़ा खुलासा

PATNA : नालंदा को बिहार के उन जिलों में से एक माना जाता है, जहां सबसे अधिक परियोजनाएं चल रही है। बिहार सरकार का भी ध्यान सबसे अधिक नालंदा पर रहता है। इसी नालंदा जिले के कतरीसराय से दो दिन पहले एक अंतरराज्यीय साइबर अपराधी आकाश को तेलंगाना पुलिस ने गिरफ्तार किया था। लेकिन, अब इस केस में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। गिरफ्तार अपराधी आकाश सिर्फ एक मोहरा था, जबकि इस गिरोह का सरगना कतरीसराय के ही एक पंचायत का मुखिया है। मुखिया का भाई भी साइबर फ्रॉड है और उसे कटक पुलिस जेल भेज चुकी है। इस बात की जानकारी खुद आकाश ने पुलिस को दी है। 

मुखिया जी कराते हैं हमलोगों की जमानत

आकाश ने पुलिस को बताया कि जब गिरोह के शातिर जेल जाते हैं, जो मुखियाजी ही जमानत कराते हैं। अब तेलंगाना पुलिस मुखिया की गिरफ्तारी का वारंट लेकर जल्द ही पटना आएगी। हालांकि पुलिस ने अभी मुखिया जी के नाम का खुलासा नहीं किया है।

अब तक चार गिरफ्तारी

पत्रकारनगर थानेदार मनोरंजन भारती ने कहा कि उसकी निशानदेही पर तीन और साइबर फ्रॉड गिरफ्तार हुए हैं। आकाश की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली से गया के दो युवकों शुभम और शशि, जबकि बेंगलुरु से रेखा नाम की लड़की को गिरफ्तार किया गया है। शुभम और शशि पहले भी जेल जा चुके हैं। इन्हीं तीनों ने तेलंगाना के हार्डवेयर कारोबारी चिलुका विजय कुमार को लग्जरी कार कीया की डीलरशिप दिलाने के नाम पर 29 लाख की ठगी की थी। विजय ने साइबराबाद थाने में 16 जुलाई को एफआईआर कराई थी।


डायरी से पता चला काम कमीशन का खेल

हनुमान नगर स्थित साइबर शातिरों के ठिकाने पर पुलिस को हिसाब किताब की एक डायरी हाथ लगी। तीन महीने में आकाश ने अपने अंदर काम करने वाले 10 शातिरों को 51 लाख 80 हजार रुपए कमीशन दिया है। गिरोह के लिए काम करने वालों को आकाश 15 से 20 प्रतिशत कमीशन देता था। वहीं पटना में सेटअप तैयार करने के लिए शातिर ने 2.35 लाख का कम्प्यूटर और अन्य उपकरण खरीदा था। तीन महीने में 18.44 लाख रुपया सिर्फ आकाश के हिस्से आया।

आकाश की गर्लफ्रेंड है बड़ी जालसाज

जांच अधिकारी ने बताया कि आकाश की गर्लफ्रेंड भी साइबर फ्रॉड है। वह पटना में ही है। उसकी तलाश की जा रही है। उसके पास ही आकाश का लैपटॉप और 10 लाख से अधिक रुपए हैं। इस गिरोह की पांच लड़कियों का लोकेशन पुलिस को पटना में मिला है।

पुलिस ने बताया कि आकाश और शुभम तीन साल बाद लगभग छह महीने पहले जेल से छूटा है। दोनों को कटक पुलिस ने पटना के जगदेव पथ से गिरफ्तार किया था।दोनों ने कटक के एक व्यवसायी से पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर 40 लाख, दूसरे से 15 लाख और गुजरात के व्यवसायी से 1.75 करोड़ की ठगी की थी। 


Find Us on Facebook

Trending News