पटना में शराब कारोबार पर देशी ड्रोन का दिखा असर, तस्करों में मची खलबली

पटना में शराब कारोबार पर देशी ड्रोन का दिखा असर, तस्करों में मची खलबली

बिहार. सूबे में शराबबंदी कानून को और प्रभावी कराने को लेकर मद्य निषेध विभाग की ओर से कार्रवाई तेज की गयी है। शराब तस्करों पर दियारा क्षेत्रो में नकेल कसने के लिए लाए गए देशी ड्रोन काफी मद्दगार साबित हुआ है। इसकी जानकारी देते हुए उत्पाद आयुक्त बी. कार्तिकेय धनजी ने बताया कि महज एक सप्ताह 26 दिसंबर से 1 जनवरी तक अवैध शराब के विरुद्ध कुल 18183 छापामारी की गई है।इससे संबंधित कुल 2257 उत्पाद अभियोग दर्ज किए गए हैं, जिसमें मद्य निषेध विभाग द्वारा 444 एवं पुलिस विभाग द्वारा 1813 अभियोग दर्ज किया गया है।

2446 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई है। वहीं आयुक्त ने बताया कि कूल 35055 बल्क लीटर देशी शराब एवं 61355 बल्क लीटर विदेशी शराब बरामद की गयी है। कुल मिलाकर 96411 बल्क लीटर मद्य निषेध विभाग एवं पुलिस विभाग के द्वारा शराब बरामद किया गया है। होम डिलीवरी में उत्पाद एवं पुलिस विभाग द्वारा कुल 117 व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया गया है।

30 दिसंबर से 1 जनवरी 2022 तक विशेष अभियान चलाया गया है, जिसमें कुल 1104 अभियोग दर्ज करते हुए कुल 13 से 13 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही 14736 लीटर देशी शराब एवं 20560 लीटर अवैध विदेशी शराब को जप्त किया गया है। साथ ही 180 वाहनों को भी जब्त किया गया है।

दिसंबर 2021 में कुल 65207 छापेमारी की गई है। इसमें कुल दर्ज अब लोगों की संख्या 9246 है। छापेमारी के दौरान 402570 लीटर अवैध देशी विदेशी शराब जब्त की गयी है। जब्त वाहनों की संख्या 1525 बतायी जा रही है। इसमें दो पहिया वाहन 1129, तीन पहिया वाहन 104, चार पहिया वाहन 219 और 73 ट्रकों को जब्त किये गये हैं. दिसंबर 2020 में कुल दर्ज अभियुक्त की संख्या 7948 थी तथा कुल 8831 को जेल हाजत में भेजा गया था। निबंधन विभाग के द्वारा विभाग को 2021-22 में कुल राजस्व 3420 करोड़ था। लक्ष्य से आगे, जिसमें 3536 करोड़ राजस्व की प्राप्ति हुई है। उक्त वसूली सरकार द्वारा निर्धारित विभाग का राजस्व लक्ष्य का 103% है।

Find Us on Facebook

Trending News