नीतीश द्वारा किये गये विकास कार्यों की सूची अंतहीन, सीएम जो कहते हैं, उसे पूरा करते हैं

नीतीश द्वारा किये गये विकास कार्यों की सूची अंतहीन, सीएम जो कहते हैं, उसे पूरा करते हैं

PATNA : चुनाव की तैयारी में जुटी प्रदेश की सत्तासीन जदयू द्वारा ताबड़तोड़ वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से कार्यकर्ताओ को संबोधित किया जा रहा है। सबसे बड़ी बात यह है कि हर मीटिंग और सम्मेलन में पार्टी के नेता सिर्फ और सिर्फ सीएम नीतीश कुमार का गुणगाण और उनके कार्यों का बखान कर रहे है।  

आज जदयू के विधानसभावार वर्चुअल सम्मेलन के तहत गुरुवार को नालंदा और हिलसा विधानसभा क्षेत्रों के पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के साथ फेसबुक लाइव और डेडिकेटेड ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से वर्चुअल संवाद किया गया।

जदयू के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं बिहार के ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा, दुनियाभर के अर्थशास्त्री इस बात पर एकमत हैं कि किसी भी इलाके की गरीबी दूर करने के लिए वहां यातायात और बिजली की सुविधाओं का विस्तार करना चाहिए। बिहार ने सिर्फ 15 वर्षों में सड़कों, पुलों और बिजली पर जितना काम किया है, वह मिसाल है। 

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार द्वारा किये गये विकास के कार्यों की सूची गिनाने लगें तो एक दिन में यह पूरा नहीं होगा। नीतीश कुमार ने गांधी मैदान से ऐलान किया था कि बिजली की स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो मैं वोट मांगने नहीं आउंगा। उन्होंने निर्धारित लक्ष्य से तीन महीने पहले ही बिहार के हर घर में बिजली पहुंचाने का काम किया।

विजेन्द्र यादव ने कहा कि नीतीश कुमार का सपना है कि देश की हरेक थाली में बिहार का एक व्यंजन हो। इसी सपने को साकार करने के लिए उन्होंने कृषि रोडमैप का निर्माण किया। बिहार जैसे कृषि प्रधान राज्य में नीतीश कुमार से पहले किसी सरकार या मुख्यमंत्री ने कृषि रोडमैप की कल्पना तक नहीं की थी। अब तक लागू तीन कृषि तीन रोडमैप से खाद्यान्न और दूध का उत्पादन बड़े पैमाने पर बढ़ा है।

वहीं राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जो कहते हैं, उसे पूरा करते हैं। पिछले विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ने कहा था कि हम सात निश्चय की योजना लागू करेंगे। आज पांच साल बाद लोग देख रहे हैं कि सात निश्चय की योजनाओं से किस तरह से गांवों का कायाकल्प हुआ है। 

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी, डॉ आंबेडकर, डॉ लोहिया, जननायक कर्पूरी ठाकुर आदि ने जो गांवों के बारे में सपना देखा था, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उसे धरातल पर उतारा है। जब से बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का शासन है, कोई ऐसा क्षेत्र या वर्ग नहीं है, जिसके विकास और उत्थान के लिए योजना नहीं बनी हो। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में बाहर से लौटे श्रमिकों को काम देने के लिए कई स्तरों पर व्यापक काम हुए हैं।

Find Us on Facebook

Trending News