इकलौते भाई की बहन ने सोते में कर दी थी हत्या, अब पूरी जिंदगी कटेगी सलाखों के पीछे

इकलौते भाई की बहन ने सोते में कर दी थी हत्या, अब पूरी  जिंदगी कटेगी सलाखों के पीछे

Bhagalpur : अपने इकलौते नाबालिग भाई की बहन ने सोते में हत्या कर दी थी। अब बहन की सारी जिंदगी सलाखों के पीछे कटेगी। अपरजिला व सत्र न्यायाधीश (आठ) महेश प्रसाद सिंह ने मंगलवार को इकलौते भाई की हत्या के आरोप में बहन को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई। कोर्ट ने कहा कि घटना जघन्य अपराध है। सरकार की ओर से अपर लोक अभियोजक जययकरण गुप्ता ने कड़ी सजा देने की मांग की, जबकि बचाव पक्ष ने कम सजा देने की मांग की।

दरअसल बीते वर्ष 20 मई को जिले के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के नारायणपुर पूरब टोला में रामनिवास सिंह के 16 वर्षीय इकलौते पुत्र नीतीश कुमार की घर में सोये हालत में खंती से सिर पर वारकर हत्या कर दी गई थी। 

घटना के दिन रामनिवास सिंह पत्नी किरण देवी के साथ ससुराल गए थे। घर में बड़ी बेटी नीलम, छोटी बेटी नेहा और पुत्र नीतीश था। घटना की रात गांव के स्कूल में रामलीला हो रही थी। रात 8.30 बजे नीतीश और 9.30 बजे नेहा चाची के साथ रामलीला देखने गई थी। नीलम घर में अकेली थी। 

इसी दौरान रात 10.30 बजे नीतीश घर आया और कमरे में सो गया। रात करीब 11 बजे नीलम ने भाई के सिर पर कई बार खंती से हमला कर हत्या कर दी थी। खंती और कपड़े में लगे खून को धोकर नीलम घर में ताला लगाकर रामलीला देखने चली गई। 

देर रात घरवालों के लौटन पर नीतीश को नहीं देख खोजबीन की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चला। बाद में जब बंद कमरे का ताला तोड़ा गया तो बिस्तर पर नीतीश खून से लथपथ मृत पड़ा मिला था। घटना की सूचना पर रात में ही नीतीश के मां-पिता घर लौटे।

इधर बहन नीलम से बार-बार घरवाले पूछताछ कर रहे थे। चार दिन बाद आखिरकार वह टूट गई व खुद झाड़ी से चाबी व मोबाइल खोजकर घर ले आई। बाद में नीलम ने भाई की हत्या की बात कबूल कर ली। 

वही  सुल्तानगंज पुलिस ने पुलिस के समक्ष नीलम ने स्वीकार किया था कि सौतेली दादी ने जलेबी खिला दी थी। उसके बाद से परेशान रहने लगी थी। घर में भाई को अकेले सोता देख हत्या कर दी थी, लेकिन कोर्ट में नीलम ने चचरे भाई और गोतिया के लोगों पर हत्या का आरोप मढ़ दिया था।


Find Us on Facebook

Trending News