मसूढ़ों और दांतों की करेंगे देखभाल तो रहेंगे स्वस्थ और खुशहाल

मसूढ़ों और दांतों की करेंगे देखभाल तो रहेंगे स्वस्थ और खुशहाल

DESK: जिस तरीके से शरीर का सवसथ रहना जरूरी है, दांतों के स्वास्थ्य की देखभाल भी बेहद जरूरी है. सुंदर और स्वस्थ मसूड़े अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है.आम तौर से मसूढ़े में गंदगी जमना, खून बहना, सांस की बदबू ऐसी कई प्रमुख समस्याएं हैं जिनके कारण हमें दूसरों से बातचीत करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है.  इसके लिए जरुरी है नियमित चेकअप और कुछ घरेलू उपाय जो दांतों को सुन्दर और स्वस्थ रख सकते हैं.

बता दें कि फूले हुए, नरम मसूढ़े और उनमें सूजन मसूढ़े की खराब सेहत का शुरुआती संकेत है. हालांकि, ऐसा नहीं है कि ये बहुत बड़ी समस्या है. उसे रोका जा सकता है और ठीक भी किया जा सकता है. दांतों के नियमित चेकअप के अलावा, हमेशा प्राकृतिक उपायों का सहारा लेने की सलाह दी जाती है जिससे आपके मसूढ़े का स्वास्थ्य ठीक रह सके.

तेल से कुल्ला करना- मुंह की सेहत को सुनिश्चित करने का आयुर्वेदिक के सबसे ज्यादा प्रचलित तरीकों में से एक तेल से कुल्ला करना है. सुबह उठने के ठीक बाद दांतों में ब्रश किए बिना 15 मिनट के लिए मुंह में नारियल या जैतून या तिल का तेल हिलाने से दांतों के मैल, मसूढ़े की सूजन को रोकता है और आपको शानदार मसूढ़े की सेहत का आनंद देता है. ये ना सिर्फ मुंह के नुकसानदेह विषैले पदार्थों की सफाई करता है बल्कि पाचन की सेहत के लिए भी शानदार है.

नीम का इस्तेमाल- नीम का पेड़ प्रकृति का अनमोल तोहफा है. उसकी पत्तियों से लेकर टहनियों तक नीम मसूढ़े के स्वास्थ्य को लाने में अत्यंत प्रभावी है. एंटी-बैक्टीरियल, सूजन-रोधी और रोगाणु रोधक गुणों से भरपूर नीम मसूढ़े को मजबूत करने, खून रोकने, प्लेक का निर्माण करने, मसूढ़े का सूजन रोकने के लिए शानदार साबित रहा है और दांत को ढंकनेवाले बाहरी आवरण को सुधारता है.

फ्लोराइड- सुश्चित करें कि आपके टूथपेस्ट में फ्लोराइड मौजूद हो. ये सामग्री सांस की बदबू, मसूढ़े की सूजन रोकने में अत्यंत प्रभावी है.

विटामिन सी- संतरा, आम, पपीता, स्ट्राबेरी, लाल मिर्च, ब्रोकोली में पाया जानेवाला विटामिन सी मसूढ़े की सेहत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. विटामिन सी कमी से पेरिओडॉन्टल रोग होने का खतरा रहता है.

मसूड़ों को स्वस्थ रखने के टिप्स

  • दांतों में प्लाक (गंदगी) होने पर फ्लोराइड टूथपेस्ट से दांतों को रोजाना दो बार ब्रश करना चाहिए.

  • धूम्रपान त्याग देना चाहिए इससे मुँह की समस्या हो सकती है.

  • विटामिन सी और कैल्शियम युक्त भोजन करना चाहिए. 

  • पौष्टिक और संतुलित आहार लेना चाहिए.


  • अत्यधिक मीठे और स्टार्च वाले फ़ूड जैसे की आलू ,मिठाई,चावल ज्यादा मात्रा की सेवन से परहेज करें. 
  • रेगुलर दांतों का चेकअप कराते रहना चाहिए.

Find Us on Facebook

Trending News