सामने आया अवैध संबंध का विभत्स चेहरा : प्रेमी के साथ मिलकर किए पति के आठ टुकड़े, फिर लाश को ड्रम में रखकर तेजाब उड़ेल दिया

सामने आया अवैध संबंध का विभत्स चेहरा : प्रेमी के साथ मिलकर किए पति के आठ टुकड़े, फिर लाश को ड्रम में रखकर तेजाब उड़ेल दिया

MUZAFFARPUR : अवैध संबंधों को लेकर हत्या का एक ऐसा विभत्स चेहरा सामने आया है, जिसके सामने आने के बाद पुलिस भी हैरान हो गई है। यहां एक विवाहिता ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर न सिर्फ पति की बेरहमी से हत्या की, बल्कि उसके शव को पहले आठ टुकड़ों में काटा, फिर ड्रम में उड़ेलकर शव को गलाने के लिए ड्रम में यूरिया, नमक और तेजाब भर दिया। कमरे से बदबू बाहर न जाए, इसलिए खिड़की और दरवाजे में कपड़े ठूंस दिया, साथ ही अगरबती जलाकर रखा गया। 

मामला मुजफ्फरपुर शहर के नगर थाना के सिकंदरपुर ओपी क्षेत्र से जुड़ा है। यहां बीते शनिवार को बालूघाट स्थित श्रीराम मंदिर के पास एक बंद मकान में लाश गलाने के लिए ड्रम में केमिकल भर रखी गई लाश से एक बड़ा धमाका हुआ था। अब पुलिस ने टुकड़ों में बरामद लाश की पहचान कर ली है और इसको लेकर सच सामने आई है, वह भी बेहद विभत्स और घृणावाला है। बताया गया कि जिस मकान में धमाका हुआ था, वह सुभाष शर्मा नाम के व्यक्ति का था। वहीं मरनेवाले व्यक्ति की पहचान राकेश कुमार के रूप में की गई है।  पुलिस ने राकेश के भाई दिनेश सहनी के बयान पर हत्या की FIR दर्ज की है। इसमें राकेश की पत्नी राधा, प्रेमी सुभाष, साली कृष्णा देवी और साढ़ू विकास को नामजद किया गया है। दिनेश ने पुलिस को बताया कि राकेश 6 दिन से घर से लापता थे। दिनेश की पत्नी राकेश को खोजते हुए बालूघाट वाले कमरे पहुंची। यहां राकेश की पत्नी राधा ने बातों में उलझाकर दिनेश की पत्नी को लौटा दिया।


शराब का धंधा करते थे सुभाष और राकेश

पुलिस जांच में पता लगा कि राकेश और हत्या का मुख्य आरोपी सुभाष शराब का धंधा करते थे। राकेश के ठिकाने से पहले भी पुलिस ने शराब बरामद की थी। उसके खिलाफ कोर्ट से वारंट जारी था। वह दिल्ली में छिपकर रहता था। राकेश के दिल्ली जाने के बाद सुभाष उसके परिवार की देखभाल करता था। इसी दौरान राकेश की पत्नी राधा से उसके अवैध संबंध बन गए। इसकी भनक राकेश को लग चुकी थी। वह दिल्ली से आया तो उसने गुस्सा जाहिर किया।

पति को ठिकाने लगाने की बनाई योजना

अवैध संबंध में डूबी राधा ने प्रेमी सुभाष के साथ राकेश को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। जिसके बाद तीज के बहाने उसने पति को दिल्ली से बुलाया और बाद में प्रेमी संग मिलकर उसकी हत्या कर दी। भाई दिनेश के अनुसार इस साजिश में राधा, सुभाष, राकेश की साली कृष्णा और साधु विकास ने मिलकर उसकी हत्या कर दी।

टुकड़ों में काटा गया था शव
 पुलिस का कहना है कि राकेश का शव कम से कम 8 टुकड़ों में काटा गया था। इसके बाद ड्रम में रख दिया गया। हालांकि, कमरे से सिर्फ एक चाकू मिला था। पुलिस आशंका जता रही है कि हत्या में इस्तेमाल हथियार छुपा दिया गया।

अमोनियम नाइट्रेट गैस बनने से हुआ धमाका
 4 दिन तक यूरिया, सल्फ्यूरिक एसिड और नमक से शव गलने के कारण अमोनियम नाइट्रेट गैस बनी। इस गैस और जलती अगरबत्ती के संपर्क के कारण धमाका हो गया। हालांकि, SFL टीम का कहना है कि केमिकल की जांच और एनालिसिस के बाद ही पूरा सच सामने आएगा।

पत्नीउसके प्रेमी समेत के खिलाफ FIR
 पुलिस ने राकेश के भाई दिनेश सहनी के बयान पर हत्या की FIR दर्ज की है। इसमें राकेश की पत्नी राधा, प्रेमी सुभाष, साली कृष्णा देवी और साढ़ू विकास को नामजद किया गया है। सभी आरोपी घटना के बाद से फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए SSP जयकांत ने 21 सदस्यीय टीम बनाई है।


Find Us on Facebook

Trending News