ठेला चालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, रास्ते में पड़े मिले रुपए शख्स को लौटाए

ठेला चालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, रास्ते में पड़े मिले रुपए शख्स को लौटाए

BEGUSARAI : कहते हैं धरती पर अच्छे लोगों की कमी नहीं है. खासकर गरीब लोगों में मानवता और ईमानदारी कूट-कूटकर भरी होती है. बेगूसराय शहर के बाघा निवासी ठेला चालक कारी महतो ने ऐसी ही ईमानदारी की मिसाल पेश की. कारी की ईमानदारी की खूब चर्चा हो रही है. दरअसल हुआ यह कि कारी महतो को एनएच-31पर पावर हाउस चौक के समीप एक पालीथिन का झोला मिला. 

उस झोले में आठ हजार रुपए, पासबुक आदि कागजात थे. उसने वह झोला बालू-गिट्टी व्यवसायी त्रिलोकी सिंह को देते हुए कहा की यह झोला किसी का गिरा हुआ था. उसके रुपए लौटा दिए जाए. इसके बाद जिसका झोला था,उसकी तलाश शुरू हुई. त्रिलोकी सिंह ने बताया कि झोला में रखा पासबुक बैंक ऑफ इंडिया के नाम से था. बैंक स्टाफ की मदद से पता चला कि रुपए मुजफरा भवानंदपुर निवासी मो.खुर्शीद का है. 


इसके बाद उसे फोन कर बुलाया गया. मो.खुर्शीद ने बताया कि वह बीड़ी मजदूर है. बैंक से रुपए निकाल कर जा रहा था. रास्ते में झोला गिर गया. उन्होंने कहा की कारी महतो ने ईमानदारी और मानवता की मिसाल पेश की है. बताया की वह बहुत गरीब हैं. पैसे मिल जाने से बड़ी राहत हुई. पावर हाउस रोड गाछी टोला निवासी सामाजिक कार्यकर्ता अनिल कुमार,मुन्ना सिंह,संजय महंत,गांधी नगर के मुकेश सिंह,गाछी टोला के मोहन झा आदि ने ठेला चालक की खूब सराहना की.

Find Us on Facebook

Trending News