यह जनता राज है, पुलिस पर अपराधी पड़ रहे भारी! पहले सीवान में सीपाही को मारा, शेखपुरा में उत्पाद विभाग में किया हमला, अब राजधानी पटना के पुलिस जान बचाकर भाग रहे

 यह जनता राज है, पुलिस पर अपराधी पड़ रहे भारी! पहले सीवान में सीपाही को मारा, शेखपुरा में उत्पाद विभाग में किया हमला, अब राजधानी पटना के पुलिस जान बचाकर भाग रहे

PATNA : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि यहां जंगलराज नहीं, बल्कि जनता का राज है। इसी जनता के राज में अब अब अपराधी इतने बेखौफ हो गए हैं कि पुलिसवालों को उनसे बचकर भागने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। दो दिन पहले सीवान में मुठभेड़ में एक सिपाही की मौत हुई थी। उसके बाद शेखपुरा में उत्पाद विभाग के कार्यालय पर हमला किया गया,जिसमें कई पुलिसवाले चोटिल हो गए। वहीं अब राजधानी पटना में भी पुलिस पर अपराधी हावी होने लगे हैं। यहां एक मामले में अपराधी को पकड़ने पहुंची पुलिस की टीम पर असमाजिक तत्वों ने हमला कर दिया। जिनसे बचने के लिए पुलिस टीम भागने को मजबूर हो गई। इस दौरान अपराधी को पुलिस के चंगुल से भी छुड़ाने में बदमाशों ने सफलता हासिल कर ली। वहीं हमले में पुलिस कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गया।

पुलिस टीम पर हमले का यह मामला पीरबहोर थाना से जुड़ा  है. यहां थाना क्षेत्र के पटना मार्केट के पास चार लोगों के हथियार से लैस होकर बैठने की सूचना मिली थी. इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई इसमें पुलिस टीम ने शिया मस्जिद के पास खड़े चार युवकों की तलाशी ली। बताया जाता है कि इसके बाद इन सभी को जांच के लिए पुलिस थाने लेकर आने लगी. इसी दौरान मौके पर मौजूद असामाजिक तत्वों ने पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया और जिन लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया था असमाजिक तत्वो ने उन्हें छुड़ा लिया. लोगों ने पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट और जब पुलिसकर्मी भागने लगे तो उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटा.

इसके बाद काफी संख्या में लोग पीरबहोर थाना भी पहुंच गये और थाने का भी घेराव कर दिया. लोगों का आरोप था कि पुलिस सादी वर्दी में मौके पर क्यों पहुंची. लोगों का यह भी आरोप था कि पुलिस गलत सूचना पर बेवजह जांच के नाम पर लोगों को क्यों परेशान करती है. अगर कोई हथियार रखता है तो पुलिस उसकी जांच करें और उसे गिरफ्तार कर जेल भेजें. इस दौरान लगभग आधे घंटे तक लोगों का पीरबहोर थाने के पास लोगों का हंगामा जारी रहा. बाद में पुलिस ने समझा-बुझाकर लोगों को वहां से वापस किया.

इस मामले में देर रात पीरबहोर थाना में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. इसमें पुलिस पर हमला करने के अलावा सरकारी काम में बाधा डालने का केस दर्ज किया गया है. घटना के बाद हालात पर नियंत्रण के लिए मौके पर भगवान के साथ काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.  पुलिस पर हमला करने वाले असामाजिक तत्वों की पहचान के लिए पुलिस सीसीटीवी कैमरे तर मे फूटे तलाशने में जुटी हुई है. फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में बताई जा रही है.

Find Us on Facebook

Trending News