कुपोषण दूर करने में बेहद कारगर साबित हो रहा है यह खास किस्म का चावल, एफसीआई की मदद से हो रही आपूर्ति

कुपोषण दूर करने में बेहद कारगर साबित हो रहा है यह खास किस्म का चावल, एफसीआई की मदद से हो रही आपूर्ति

KATIHAR : कटिहार के साथ-साथ सीमांचल के इलाके में कुपोषण भी एक बड़ी समस्या है और अब केवल सीमांचल के इलाके में ही लगभग एक करोड़ लोगों तक केंद्र सरकार द्वारा फोर्टीफाइड राइस देकर इस कुपोषण की समस्या को भी दूर करने की कोशिश किया जा रहा है। फोर्टीफाइड राइस को लेकर बताया गया कि इसे विशेष रूप से कुपोषित बच्चों को दिया जाता है। जिससे उनके कुपोषण को जल्द ही कम करने में मदद मिलती है।

रखरखाव और गुणवत्ता पर जोर

किसी भी हाल में देश की अनाज बर्बादी हर किसी के लिए दुखद है, इसे लेकर सरकार और आम लोगो के जागरूक होने की दावे के बाबजूद समय-समय पर ऐसी तस्वीरें आते रहती है, जो अनाज की बर्बादी से जुड़ा हुआ होता है, ऐसी बर्बादी रोकने के प्रयासों के साथ केंद्र सरकार द्वारा लोगों को अलग-अलग योजना के तहत दिए जा रहे अनाजों की गुणवत्ता बरकरार रखते हुए लोगों के थाली तक फोर्टीफाईड राइस पूरी तरह गुणवत्ता के साथ पहुंचे इसे लेकर फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया खासा सजग है। 

 फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया प्रमंडलीय अधिकारी जनार्दन पासवान ने बताया कि  केंद्र की योजना से दिए जा रहे अनाजों को लोगों तक पूरी गुणवत्ता के साथ पहुंचाने के लिए किस तरह से एफसीआई गोदाम के प्रबंधन होता है और ऐसे में किस तरह से केंद्र सरकार लोगों तक उच्च गुणवत्ता वाले चावल पहुंचाने की कोशिश कर रहे है।


Find Us on Facebook

Trending News