TWITTER ATTACK: नेता प्रतिपक्ष की दरियादिली पर सत्ता पक्ष का सवाल, कौन है ये राजकुमार जिसने आंचल में रुपया गिराया?

TWITTER ATTACK: नेता प्रतिपक्ष की दरियादिली पर सत्ता पक्ष का सवाल, कौन है ये राजकुमार जिसने आंचल में रुपया गिराया?

PATNA: बिहार में सत्ता पक्ष और विपक्ष एक-दूसरे पर गिद्ध की तरह पैनी नजर रखते हैं। इसका फायदा यह होता है कि उन्हें एक-दूसरे की वह बारीकियां पता चल जाती हैं, जिन्हें ऐसे ढूंढना जरा मुश्किल है। इसके उदाहरण हमें लगभग हर रोज देखने को मिल जाते हैं, जब पक्ष- विपक्ष के नेता एक-दूसरे पर निशाना साधते हुए ट्वीट करते हैं।

इसी कड़ी में जदयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने 2 ट्वीट किए हैं, जो तेजस्वी यादव से संबंधित हैं। यह दरअसल दो वीडियो है, जहां तेजस्वी यादव कुछ महिलाओं से रूबरू होते नजर आ रहे हैं। इसी को लेकर शायराना अंदाज में नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव सहित लालू परिवार पर तंज कसा है।

क्या लिखा है ट्वीट में?

शुक्रवार की सुबह जदयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने 2 ट्वीट किए, जो कि शायराना अंदाज में थे। ट्वीट कुछ इस प्रकार से हैं- ‘पीछे से कोई कहता है, कि ये लाल उन्हीं का है.... जिन्होंने लिखवा ली थी उनकी ज़मीन बदले उसके चंद नोट के टुकड़े, आँचल में सबके डाल आया था... लालू के लाल से पूछो गरीबी का माखौल क्यों उड़ाया... वोट को नोट क्यों दिखलाया इंसानों की मज़बूरी का कुछ तो लिहाज़ कर लो...शर्म करलो बबुआ।’ वहीं दूसरे ट्वीट में उन्होनें लिखा है कि, ‘कोई जानता नहीं-पहचानता नहीं, कौन है ये राजकुमार जिसने आंचल में रुपया गिराया है, घमंड का खुमार इस कुमार पर इतना छाया, अमीरी-गरीबी का फ़र्क़ बताया, कोई पीछे से लालू का लाल है बताता, भूत के वर्तमान का हाल दिखाता, जाओ बबुआ अपनी पहचान बनाओ, आर्थिक लुटेरे होने का दाग़ मिटाओ।’

क्या है पूरा मामला?

दरअसल गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव गोपालगंज के दौरे पर थे। जहां वह पूर्व राजद विधायक स्वर्गीय देवदत्त यादव की पुण्यतिथि कार्यक्रम में शामिल हुए। वहां उन्होंने उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण किया और एक सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम की समाप्ति के पश्चात जब वह सड़क मार्ग से वापस लौट रहे थे, तब रास्ते में महिलाएं उनके काफिले के पास पहुंच गई और उन से फरियाद करने लगीं। उनकी स्थिति देखकर तेजस्वी यादव का दिल पसीज गया और उन्हें अपनी जेब से कुछ रुपए निकाल कर महिलाओं को दिए। इसी को लेकर सत्ता पक्ष नेता प्रतिपक्ष पर हमलावर है और उनके इस करने पर कई तरह के सवाल उठा रहा है।

एक तीर से दो निशाने साधते हुए नीरज कुमार ने पहले जहां तेजस्वी यादव के इस कृत्य को गलत बताया। वहीं दूसरी तरफ लालू यादव के शासनकाल में हुए घोटाले और जमीन खरीदने के मामले को भी उठा दिया। उन्होंने कहा जिस तरह लालू यादव ने गरीबों की जमीन अपने नाम लिखवा ली थी और उन्हें इसके बदले में कुछ रुपए दिए गए थे। ठीक उसी तरह तेजस्वी यादव थी चंद नोट के टुकड़े महिलाओं के आंचल में डाल रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को इतना घमंड नहीं करना चाहिए कि उन्हें अमीरी और गरीबी का फर्क भी ना पता चले।



Find Us on Facebook

Trending News