कर्मचारी की मौत के बाद फूटा विश्वविद्यालय कर्मियों का गुस्सा, जमकर किया हंगामा

कर्मचारी की मौत के बाद फूटा विश्वविद्यालय कर्मियों का गुस्सा, जमकर किया हंगामा

PURNEA : पूर्णिया में लगातार 14 दिनों से हड़ताल पर बैठे पूर्णिया विश्वविद्यालय के कर्मियों का गुस्सा तब फूट पड़ा. जब धरना पर बैठे एक कर्मी की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी. मृतक राम सोहित मंडल फारबिसगंज कॉलेज में कार्यरत थे. बाद में उन्हें विश्विद्यालय में कार्यभार संभालने के लिए बुलाया गया था. इसके बाद उन्हें विभिन्न कॉलेज में भेजा गया था. वर्तमान में पुर्णिया के धमदाहा में पीटीआई के तौर पर कार्यरत थे. 

मृतक की पत्नी का आरोप है कि धरना समाप्त करने के लिए उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था. बताया जा रहा है की इस मामले में विश्वविद्यालय के पीआरओ रजनीश का नाम सामने आया है, जिस पर आरोप है कि उनसे फोन पर अंतिम बार बात हुई थी. तब से राम सोहित मंडल परेशान थे. पत्नी ने आरोप लगाया है कि बीते 4 साल से मृतक और अन्य कर्मीयों को सैलरी नहीं मिलने से अंत मे आंदोलन पर बैठे थे, जिसे बार बार धमकी मिल रही थी. 

उधर शव को लेकर परिजन और अन्य कर्मी विश्विद्यालय परिसर के धरना स्थल पर बैठ गए. उन्होंने कुलपति सहित अन्य अधिकारियों के खिलाफ अविलम्ब कार्यवाही मांग की. 

वहीँ सदर एसडीपीओ आनन्द कुमार पांडेय के साथ 4 थाना की पुलिस बल विश्वविद्यालय परिसर पहुँची. आक्रोश इतना बढ़ गया कि पुलिस और आंदोलनकारियों के बीच तीखी बहस हुई. अंत मे मामला दर्ज कर शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया गया. 

पूर्णिया से तहजीब की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News