वाह रे शराबबंदी ! एमबीए के छात्र ने अपनाया शराब तस्करी का धंधा, पकड़े जाने के बाद कमाई सुनकर पुलिस रह गई दंग...

वाह रे शराबबंदी ! एमबीए के छात्र ने अपनाया शराब तस्करी का धंधा,  पकड़े जाने के बाद कमाई सुनकर पुलिस रह गई दंग...

डेस्क...  जल्द से जल्द ज्यादा पैसे कमाने की चाहत में एमबीए का एक छात्र ड्राई स्टेट बिहार में शराब की तस्करी करने लगा। इस धंधे से प्रतिदिन वह 9 लाख रुपए कमाता था। 28 साल का यह युवक अब पुलिस की गिरफ्त में है और एक स्थानीय कोर्ट ने उसे 14 दिन की हिरासत में भेज दिया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 28 वर्षीय अतुल सिंह शराब तस्करी के धंधे की बदौलत लग्जरी कार और 8 लाख रुपए की कीमत से अधिक के स्पोर्ट्स बाइक से चलता था। उसके पास से दो आईफोन भी बरामद हुआ है। गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात को राजधानी पटना की पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने उसे महात्मा बुद्ध नगर से गिरफ्तार किया। उसके किराए के मकान से 21 लाख की शराब बरामद हुई है।

पत्रकार नगर थाने के एसएचओ मनोरंजन भारती ने बताया कि अतुल के पास से एक डायरी मिली है, जिससे पता चलता है कि वह अवैध शराब की तस्करी से रोज 9 लाख रुपए कमा रहा था। पुलिस ने उसके बैंक पासबुक और पैसे के लेन देन वाले अन्य दस्तावेजों को बरामद कर लिया है।

अधिकारियों ने बताया कि अतुल सिंह पटना ग्रामीण के अलावलपुर का रहने वाला है। पूछताछ में अतुल ने बताया कि उसने बेरोजगार युवकों को शहर के अलग-अलग इलाकों में शराब पहुंचाने के लिए रखा हुआ था। एक कस्टमर्स के पास डिलीवरी करने के बदले वह उन्हें 500 रुपए कमीशन देता था। करीब 30-40 युवाओं को अतुल ने अपने इस धंधे में शामिल कर रखा था।

अतुल के गैंग के दो युवकों इंद्रजीत सिंह और संजीव कुमार को पहले पुलिस ने गिरफ्तार किया। ये दोनों किसी कस्टमर्स को शराब पहुंचाने जा रहे थे। इन्हीं से हुई पूछताछ के आधार पर पुलिस अतुल तक पहुंची। शरुआत में उसने पुलिस को बरगलाने की कोशिश की लेकिन जल्द ही उसने शराब तस्करी की बात को कबूल कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अतुल ने कहा कि वह एमबीए का छात्र है और नोएडा की एक प्रतिष्ठित प्राइवेट यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर रहा है। पुलिस को उसने अपना आईडी कार्ड भी दिखाया। लेकिन छापेमारी के दौरान मिले सबूत के कारण उसे अपने गुनाह कबूलने पड़े। पुलिस को उसके कमरे से करीब 2 लाख रुपए कैश से भरा बैग भी मिला।

पुलिस ने बताया कि अतुल सिंह ने सबसे पहले मुर्गा का बिजनेस शुरू किया था, लेकिन लॉकडाउन होने के कारण बंद करना पड़ा। इसके बाद उसने शराब का धंधा शुरू कर दिया। खास बात यह है कि इससे पूछताछ में पुलिस को शराब तस्करी के वैशाली कनेक्शन की जानकारी मिली है। यह शराब की खेप वैशाली के चार तस्करों से मंगवाता था और पटना में कई थाना क्षेत्रों में सप्लाई करता था।



Find Us on Facebook

Trending News