युट्यूब देखकर इलाज कराने अफ़्रीकी देश से भागलपुर पहुंचा युवक, लाखों के बजाय 25 हज़ार खर्च कर बीमारी से मिली राहत

युट्यूब देखकर इलाज कराने अफ़्रीकी देश से भागलपुर पहुंचा युवक, लाखों के बजाय 25 हज़ार खर्च कर बीमारी से मिली राहत

BHAGALPUR : अक्सर लोगों को अपनी बीमारी के इलाज को लेकर देश विदेश का रुख करते हुए देखा जाता है। लेकिन छोटे शहरों में भी ऐसे अस्पताल हैं जहां अफ्रीका जैसे महादेश के लोग अपनी बीमारी के इलाज के लिए आना पड़ा है। 


दरअसल अफ्रीका के गांबिया जैसे छोटे से देश के रहने वाले लेमन टोरे के क्लबफुट बीमारी के इलाज भागलपुर के ततारपुर स्थित डॉ इम्तियाज उर रहमान के क्लीनिक में पिछले एक महीने से चल रहा है। बीमारी को लेकर डॉ इम्तियाज उर रहमान ने बताया की लेमीन को यह गंभीर समस्या बचपन से ही है। आमतौर पर क्लब फूट बीमारी होने पर पैर टेढ़ा होने के कारण मरीज को चलने में समस्या होती है। 

डॉ ने बताया की गांबिया एक गरीब देश है और वहां भुखमरी की स्थिति है। ऐसे में इस तरह की बीमारी का इलाज दूसरे देशों में काफ़ी महंगा होता है। डॉ के मुताबिक दूसरे देशों में इस इलाज को कराने में लाखों रूपए खर्च होते है। जबकि भागलपुर में इसके इलाज में 25 हज़ार ही खर्च करना पड़ा। हालांकि पीड़ित लेमीन कई यूरोपियन देशों में अपने ईलाज के लिए गए। लेकीन उन्हें सिर्फ निराशा ही हाथ लगी। 

जबकि लंदन नर्स के तौर पर कार्यरत  उनकी बहन ने यूट्यूब के माध्यम से उन्हें भागलपुर के ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉ इम्तियाज उर रहमान के बारे में बताया। एक महिने इलाज के बाद लेमीन का पैर लगभग सीधा हो गया है। उसे इलाज से बेहतर परिणाम भी नज़र आ रहा है। वहीं डॉ  ने इसे जल्द खुद के पैरों पर चलने का आश्वासन दिया है। 

भागलपुर से बालमुकुन्द की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News