सीमा सुरक्षा बल के ट्रेनिंग फायरिंग के चपेट में आकर 10 किशोर हुए जख्मी, बेहतर इलाज के लिए गया रेफर

सीमा सुरक्षा बल के ट्रेनिंग फायरिंग के चपेट में आकर 10 किशोर हुए जख्मी, बेहतर इलाज के लिए गया रेफर

GAYA : जिले के बाराचट्टी प्रखंड अंतर्गत बुमेर पंचायत में एस.एस.बी उतर प्रदेश के द्वारा किए जा रहे फायरिंग से 10 किशोर के चपेट में आने की खबर मिलते ही क्षेत्र सहित जिले में सनसनी फ़ैल गई है। मिली जानकारी के अनुसार उक्त पंचायत के पैरुआ बांध के 10 की संख्या में किशोर मोबाइल चला रहे थे। इसी बीच फायरिंग का गोला गिरते ही सभी चपेट में आ गए है।


घायलों में उत्तम कुमार, पिता कुटाई मांझी उम्र 10 वर्ष, अंकित कुमार, पिता अमृत मांझी उम्र 12 वर्ष, कपिल कुमार, पिता नरेश मांझी उम्र 12 वर्ष, कैलू कुमार, पिता अर्जुन मांझी उम्र 16 वर्ष, मुकेश कुमार, पिता पुचू मांझी उम्र 16 वर्ष, अलू कुमार, पिता राजकुमार मांझी उम्र 17 वर्ष, नीतीश कुमार, पिता रंजीत मांझी उम्र 10 वर्ष, मुकेश कुमार, पिता रंजीत मांझी, शिव कुमार, पिता जगनारायण सिंह उम्र 15 वर्ष एवं मिथलेश कुमार, पिता विमल मांझी उम्र 14 वर्ष का नाम शामिल है। सभी की उम्र 16 वर्ष से नीचे बताया जा रहा है। 

घायल किशोरों में से 9 युवक को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र बाराचट्टी में प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज हेतु गया मगध मेडिकल सह अस्पताल गया भेज दिया गया है। वही एक युवक का बाराचट्टी में ही निजी क्लीनिक से उपचार हो रहा है। हालांकि सभी की स्थिति ठीक बताई जा रही है। फायरिंग के संबंध में मुखिया कुमार ने बताया की यह फायरिंग एस.एस.बी.की कंपनी जो झींगा उत्तर प्रदेश से आई है। इनका छोटा फायरिंग रेंज चल रहा है जिसका छर्रा लगने से घायल हो गए है। सभी किशोर पंचायत अंतर्गत गुलरवेद के रहने वाले है। 

बता दें कि ऐसी घटना इस पंचायत के लिए नई बात नही है। इस तरह लोगों की लापरवाही से लगातार घटना होती रही है। जिसको लेकर पंचायत के मुखिया के द्वारा ऑटो से प्रचार प्रसार भी करवाया कि फायरिंग रेंज में न प्रवेश करे। लेकिन आम जनता का नजरंदाज करने का नतीजा है कि बीते कुछ महीनों पहले भी एक युवक का जान चला गया था।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News