पटना में कोरोना से 44 शिक्षक-कर्मियों की हुई मौत, शिक्षा विभाग ने सभी जिलों के DEO से मांगी रिपोर्ट

पटना में कोरोना से 44 शिक्षक-कर्मियों की हुई मौत, शिक्षा विभाग ने सभी जिलों के DEO से मांगी रिपोर्ट

PATNA : बिहार में कोरोना का कहर लगातार जारी है। कोरोना संक्रमण से हर दिन न जाने कितने लोगों की जान जा रही है।  स्थिति नियंत्रित करने को लेकर राज्य सरकार ने 5 मई से लॉकडाउन लगाया है । बिहार में अब 31 मई तक लॉकडाउन जारी रहेगा। कोरोना के इस विपदा में शिक्षक-शिक्षकेत्तर कर्मियों की भी बड़ी संख्या में मौत हुई है। शिक्षा विभाग ने सभी जिलों से कोरोना से मृत शिक्षकों का ब्योरा तलब किया है।  

पटना में 44 की कोरोना से मौत

कोरोना की भयावहता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सिर्फ पटना जिले में 44 शिक्षकों-कर्मियों की अब तक मौत हो चुकी है। पटना जिले में कोरोना संक्रमण से अप्रैल-मई महीने में 44 शिक्षकों-कर्मियों की मौत हुई है। जिले के डीईओ ने इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा के निदेशक को मृत शिक्षक-कर्मियों के बारे में जानकारी दी है। डीईओ के पत्र के अनुसार,प्राईमरी और मध्य विद्यालय के 35 शिक्षक और कर्मी कोरोना संक्रमण की भेंट चढ़े हैं। वहीं हाईस्कूल और प्लस टू के 9 शिक्षक-कर्मियों की कोरोना से मौत हुई है। 

माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने 21 मई को सभी जिलों को भेजा था पत्र

पटना जिले के डीईओ नीरज कुमार ने यह सूची विधालय के प्रधानाचार्य,प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और विद्यालय अवर निरीक्षक के प्रतिवेदन के आधार पर तैयार किया है। डीईओ ने यह सूची शिक्षा विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक को 24 मई को भेज दिया है। बता दें कि माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने 21 मई को सभी जिलों के डीईओ को पत्र भेजकर कोरोना से मृत शिक्षकों और कर्मियों के बारे में जानकारी मांगी थी।    

Find Us on Facebook

Trending News